• Home
  • Bihar
  • Patna
  • Patna - भारतेंदु ने आधुनिक हिंदी के लिए महान कार्य किया
--Advertisement--

भारतेंदु ने आधुनिक हिंदी के लिए महान कार्य किया

महाकवि तुलसी दास के पश्चात साहित्य के माध्यम से लोक-जागरण करने वाले साहित्यकार भारतेंदु हरिशचंद्र थे। उन्होंने...

Danik Bhaskar | Sep 10, 2018, 05:06 AM IST
महाकवि तुलसी दास के पश्चात साहित्य के माध्यम से लोक-जागरण करने वाले साहित्यकार भारतेंदु हरिशचंद्र थे। उन्होंने खड़ी बोली हिंदी को माध्यम बनाकर भारतीय समाज और आधुनिक हिंदी के लिए महान कार्य किया। यह बातें रविवार को बिहार हिंदी साहित्य सम्मेलन में भारतेंदु जयंती के अवसर पर ‘नाट्य-साहित्य में बिहार का योगदान’ विषय पर बिहार विश्वविद्यालय सेवा आयोग के पूर्व अध्यक्ष प्रो. शशिशेखर तिवारी ने कही। इस मौके पर संगोष्ठी में शामिल डॉ. अशोक प्रियदर्शी ने कहा कि बिहार में नाट्य-साहित्य का आरंभ सन 1880 में केशवराम भट्ट के ‘शमशाद सौसन’ नाम से लिखे गए नाटक से माना जाता है। इस अवसर पर कवयित्री सरिता गुप्ता के काव्य-संग्रह ‘जाग रे मन’ का लोकार्पण सम्मेलन अध्यक्ष डॉ. अनिल सुलभ ने किया।