• Hindi News
  • Bihar
  • Patna
  • bihar budget 2019 nitish kumar government proposed to have census on the basis of caste in 2021

बजट सत्र / नीतीश ने की 2021 में जातीय जनगणना कराने की मांग, सर्वसम्मति से प्रस्ताव पास करे सदन



विधानसभा पहुंचे नीतीश कुमार। विधानसभा पहुंचे नीतीश कुमार।
X
विधानसभा पहुंचे नीतीश कुमार।विधानसभा पहुंचे नीतीश कुमार।

  • मैं 1990 से ही जातीय जनगणना कराने की मांग कर रहा हूं
  • गरीब सवर्ण को मिले आरक्षण में विरोध करने जैसा कुछ नहीं

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2019, 04:38 PM IST

पटना.  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 2021 में होने वाली जनगणना को जातीय आधार पर कराने की मांग की है। बुधवार को बजट सत्र के तीसरे दिन राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मुद्दे पर सत्ता और विपक्ष एक साथ है। सदन में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पास कर केंद्र को भेजा जाना चाहिए। 

 

1990 मैं कर रहा हूं मांग
मुख्यमंत्री ने कहा कि जो लोग आज आरक्षण के मुद्दे पर मुझसे सवाल पूछ रहे हैं उन्हें और जानकारी प्राप्त करने की जरूरत है। मैं 1990 से ही जातीय जनगणना कराने की मांग कर रहा हूं। तब मैं केंद्र में वीपी सिंह की सरकार में राज्यमंत्री था। मैंने केंद्र सरकार से जातीय जनगणना कराने की मांग की थी। मुझे कहा गया कि जनगणना का काम शुरू हो गया है। 

 

गरीब सवर्ण को मिले आरक्षण में विरोध करने जैसा कुछ नहीं
नीतीश ने कहा कि 2001 के सेंसस में भी देश में किस जाती के कितने लोग हैं इसका पता नहीं चला। सेंसस से यह तो पता चल जाता है कि एससी और एसटी की कितनी आबादी है, लेकिन यह नहीं पता चलता कि अन्य जातियों कि कितनी आबादी है और उनकी सामाजिक स्थिति क्या है।

 

2001 में जातीय सर्वे तो हुआ, लेकिन वह भी ठीक से नहीं हुआ। गरीब सवर्ण को मिले 10 फीसदी आरक्षण पर नीतीश ने कहा कि इसमें विरोध करने जैसा कुछ नहीं है। पुराने आरक्षण से किसी प्रकार का कोई छेड़छाड़ नहीं किया गया है।

COMMENT