पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बिहार: सुधा ने दिलाया पहला स्वर्ण

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

ऑल इंडिया सिविल सर्विस वेटलिफ्टिंग, पावर लिफ्टिंग व बेस्ट फिजिक टूर्नामेंट में सुधा कुमारी ने अपने बेहतर प्रदर्शन के बल पर बिहार के लिए पहला स्वर्ण पदक झोली में डाल दिया। सुधा ने 57 किलोग्राम भार वर्ग में कुल 417.5 किलो वजन उठाकर स्वर्ण पदक जीतीं। वहीं स्ट्रांगेस्ट वुमन ऑफ द टूर्नामेंट भी घोषित की गयीं। पावर लिफ्टिंग इवेंट को पिछले दो साल से ही ऑल इंडिया सिविल सर्विस टूर्नामेंट में शामिल किया गया है।

सुधा लगातार स्वर्ण के साथ-साथ स्ट्रांगेस्ट वुमन का पुरस्कार जीत रही हैं। शनिवार को बिहार को एक स्वर्ण, दो रजत एवं एक कांस्य पदक महिला पावर लिफ्टिरों ने दिलाया। पाटलिपुत्र खेल परिसर के इंडोर हॉल में सचिवालय स्पोर्ट्स क्लब पटना द्वारा आयोजित इस टूर्नामेंट में बिहार सचिवालय की महिला खिलाड़ियाें ने बेहतर प्रदर्शन किया। 47 किलोग्राम में बिहार की पम्मी कुमारी ने 160 किलो ग्राम उठाकर रजत पदक दिलाई। फिर 52 किलोग्राम केटेगरी में 220 किलो वजन उठाकर प्रीति रानी ने बिहार को दूसरा रजत पदक दिलाई। 63 किलोग्राम पूजा कुमारी पदक से चूक गयीं। पूजा 165 किलो वजन उठाकर छठे स्थान पर और 57 किलोग्राम में प्रियंका 122 किलो वजन उठाकर सातवें स्थान पर रहीं। बिहार के लिए कांस्य पदक स्मिता कुमारी ने 84 किलोग्राम भार वर्ग में कुल 210 किलो उठाकर जीता। स्मिता ने स्कॉट में 70, बेंच में 40 और डेड में 100 किलोग्राम वजन उठाया।

महिला पावर लिफ्टिंग की पूर्व विश्व चैंपियन रहीं आरएसबी पटना की दीपाली नंदी 27 साल बाद 84 किलोग्राम से ऊपर वर्ग में उतरीं। 1989 में विश्व खिताब अपने नाम करने वाली दीपाली नंदी ने 57 वर्ष की आयु में हिस्सा लेते हुए कुल 185 किलोग्राम वजन उठाकर पांचवें स्थान पर रहीं। उनकी तीन बेटियां, बेटा और पति भी हौसला बढ़ाने के लिए मौजूद थे। सचिवालय स्पोर्ट्स क्लब के अध्यक्ष सह मुख्य सचिव बिहार दीपक कुमार ने बताया कि रविवार को प्रात: 11 बजे सरकार के सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री नीरज कुमार सभी को पुरस्कृत करेंगे।

खबरें और भी हैं...