बिहार विद्यापीठ को केन्द्र सरकार बिहार विद्यापीठ यूनिवर्सिटी बनाए

Patna News - बिहार विद्यापीठ से डॉ. राजेन्द्र प्रसाद की कई यादें जुड़ी हुई हैं। वे इसके वाइस चांसलर थे और मौलाना मजहरुल हक इसके...

Dec 04, 2019, 08:50 AM IST
Patna News - bihar university should be made central university of bihar university
बिहार विद्यापीठ से डॉ. राजेन्द्र प्रसाद की कई यादें जुड़ी हुई हैं। वे इसके वाइस चांसलर थे और मौलाना मजहरुल हक इसके चांसलर। देश में तीन जगह पटना, काशी और गुजरात में विद्यापीठ की स्थापना की गई थी, लेकिन काशी और गुजरात विद्यापीठ को यूनिवर्सिटी का दर्जा दे दिया गया और बिहार विद्यापीठ ऐसे ही पड़ा है। बिहार विद्यापीठ को केन्द्र सरकार बिहार विद्यापीठ यूनिवर्सिटी बनाए। यह मांग रखी अर्थशास्त्री प्रो. नवल किशोर चौधरी ने। वे पटना यूनिवर्सिटी के समाज शास्त्र विभाग में डॉ. राजेन्द्र प्रसाद की जयंती पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि चाटुकारिता की परंपरा मजबूत हो रही है। मेरिट पर गंभीर चर्चा की जरूरत है। कहा कि जो पावर एलोन की बात करते हैं उन्हें डॉ. राजेन्द्र प्रसाद से सीखना चाहिए। इंग्लिश के पूर्व प्रोफेसर डॉ. शैलेश्वर शती प्रसाद ने डॉ. राजेन्द्र प्रसाद की समाजशास्त्रीय दृष्टि पर अपने विचार रखे। कहा की राजेन्द्र बाबू का मानना था कि दृढ़ इच्छा शक्ति व आस्था से ही अस्पृश्यता दूर हो सकती है। सोशल साइंस की डीन प्रो, उषा वर्मा ने कहा कि राष्ट्रपति पद पर रहते हुए भी देशर| सादगी जीवन जीते रहे। वे बिहार विद्यापीठ में रहते थे। सभी का सम्मान करने की सीख उनके जीवन से मिलती है। विभागाध्यक्ष डॉ. विजय कुमार, पूर्व विभागाध्यक्ष डॉ. आर. एन. शर्मा ने भी अपने महत्वपूर्ण विचार रखे। भाषण प्रतियोगिता में चयनित प्रतिभागियों को पुरस्कृत भी किया गया। शाताब असलम को प्रथम, विष्णु प्रभाकर को द्वितीय और राकेश रंजन सिंह, शुभम श्री वास्तव और धनंजय कुमार को तृतीय पुरस्कार दिया गया। इनके अलावे रूपेश, दीपक यादव, अभिनव, विकास, कुंदन गुप्ता, तान्या प्रिया, संदीप पाठक, अंकित पोद्दार, मो. फैयाद इकबाल, तारकेश्वर पांडेय और पैंसी को भी प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया।

X
Patna News - bihar university should be made central university of bihar university
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना