पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

भाजपा MLC ने कहा- नीतीश कुमार को फिर से मुख्यमंत्री बनाना, भाजपा की प्राथमिकता नहीं हो

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • सच्चिदानंद राय ने कहा- नीतीश कुमार से संबंध पर विचार हो
  • भाजपा ने इसे खारिज किया, जदयू बोला- बेतुकी व असरहीन बात

पटना. भाजपा विधान पार्षद सच्चिदानंद राय ने अपने नेतृत्व को कहा कि ‘नीतीश कुमार को फिर से मुख्यमंत्री बनाना, भाजपा की प्राथमिकता नहीं हो सकती। उनसे संबंधों पर विचार हो।’ भाजपा ने इस बयान को खारिज किया, इसे सच्चिदानंद की निजी राय बताया। जदयू बोला- यह कुंठित अनर्गल प्रलाप है। इसका जदयू व भाजपा के संबंधों पर कोई असर नहीं पड़ेगा। 

 

सच्चिदानंद बोले- अगली बार सीएम भाजपा का हो, यह शर्त रखा जाए
सच्चिदानंद ने कहा- क्या भाजपा, नीतीश कुमार के सामने शर्त रखेगी कि अगली बार सीएम भाजपा का होगा। नीतीश नहीं मानते हैं, तो भाजपा क्या करेगी, यह तय हो। इस बार नीतीश सरकार में विधायकों की संख्या के हिसाब से मंत्रियों की संख्या तय हुई। फिर 2 सांसदों वाले जदयू को भाजपा के बराबर यानी 17 सीटें क्यों मिलीं? यह जानते हुए कि जदयू अपना जनसमर्थन बढ़ाने के लिए भाजपा के वोट बैंक में सेंघमारी करेगा, हमने उसे अपने घर में सेंघमारी का मौका क्यों दिया? जबकि राम मंदिर, समान नागरिक संहिता, धारा 370, 35 ए आदि पर जदयू की भाजपा से बिल्कुल उलट राय है।’ 

 

भाजपा की हिदायत- सब मानें नेतृत्व का निर्णय 
भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता मनोज शर्मा ने इस बात पर आश्चर्य व्यक्त किया। कहा- भाजपा संगठन व विचारधारा की पार्टी है। पार्टी के फोरम पर हर कोई अपनी बात रखने को स्वतंत्र है। अगर कोई बाहर अपनी बात रखता है, तो यह उसका निजी बयान हो सकता है, पार्टी की आधिकारिक बात कतई नहीं। भाजपा गठबंधन धर्म का पालन करने वाली पार्टी है। नेतृत्व के निर्णय का अनुपालन करना पार्टी के सभी नेता-कार्यकर्ताओं का कर्तव्य है।

 

जदयू ने कहा- निजी कुंठा अपने ही पास रखें सच्चिदानंद, उनकी राय उनकी हैसियत से परे

जदयू के वरिष्ठ नेता शैलेंद्र प्रताप सिंह ने कहा- ऐसी राय जाहिर करना सच्चिदानंद राय के अधिकार व उनकी हैसियत के परे है। अपनी निजी कुंठा खुद तक सीमित रखें। भाजपा, जदयू, लोजपा ने मजबूती से लोकसभा चुनाव लड़ा, हर सीट पर सकारात्मक परिणाम सुनिश्चित कराया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के विजन ने एनडीए को मजबूती दी। उनके कार्यकाल में हुए विकास कार्य ही बिहार में एनडीए का चेहरा है।

 

\'मोदी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए जदयू ने शिद्दत से मेहनत की है\'

जदयू नेता ने कहा कि नरेंद्र मोदी को फिर प्रधानमंत्री बनाने के लिए भाजपा के साथ जदयू ने भी शिद्दत से मेहनत की है। बिहार में, भाजपा और जदयू दोनों विकास के दो मजबूत कंधे हैं, जो विकास की राजनीति पर केंद्रित हैं। ऐसे नेताओं की अनर्गल बयानबाजी का इस पर कोई असर नहीं पड़ता, जिनकी खुद की राजनीतिक गतिविधियां पार्टी विरोधी स्तर तक पहुंच गई हों।

 


 

 


 

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आपका कोई सपना साकार होने वाला है। इसलिए अपने कार्य पर पूरी तरह ध्यान केंद्रित रखें। कहीं पूंजी निवेश करना फायदेमंद साबित होगा। विद्यार्थियों को प्रतियोगिता संबंधी परीक्षा में उचित परिणाम ह...

और पढ़ें