Hindi News »Bihar »Patna» Bjp National President Amit Shah Come Patna For Meeting With Party Leaders

सीट बंटवारे को लेकर लोग न जाने क्या-क्या कह रहे हैं, उन्हें लार टपकाने दीजिए; भाजपा सहयोगियों को संभालना जानती है: पटना में अमित शाह

नीतीश ने महागठबंधन (कांग्रेस और आरजेडी‌‌) से अलग होकर जुलाई 2017 में भाजपा के साथ सरकार बनाई थी।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jul 12, 2018, 05:54 PM IST

  • सीट बंटवारे को लेकर लोग न जाने क्या-क्या कह रहे हैं, उन्हें लार टपकाने दीजिए; भाजपा सहयोगियों को संभालना जानती है: पटना में अमित शाह
    +3और स्लाइड देखें
    पटना के ज्ञान भवन में बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते अमित शाह।
    • बिहार में लोकसभा की 40 सीटों को लेकर भाजपा, जदयू, लोजपा और रालोसपा में मतभेद
    • जदयू बिहार में खुद को बड़ा भाई बता रही, इसलिए ज्यादा सीटें मांग रही है

    पटना.भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने पटना में कहा कि जदयू के साथ आने से एनडीए बिहार की सभी 40 सीटों पर जीत दर्ज करेगी। कुछ लोग बिहार में सीटों के बंटवारे को लेकर न जाने क्या-क्या कह रहे हैं। उन्हें लार टपकाने दीजिए। बीजेपी अपने सहयोगी दलों को संभालना और उन्हें सम्मान देना जानती है। भाजपा को हराने के लिए विपक्ष इक्ट्ठा हो रहा है। बिहार में कांग्रेस लालू यादव के साथ गठजोड़ कर रही है तो उत्तर प्रदेश में बुआ-भतीजे एक साथ आ रहे हैं। जैसे हमने 2014 में ममता बनर्जी, लालू यादव, राहुल गांधी, मायावती और विपक्ष के अन्य नेताओं को हराया था। 2019 में भी यही होगा। चाणक्य ने कहा था कि जब सभी चोर इकट्ठे हो जाएं तो समझो राजा सही काम कर रहा है। मैं यहां किसी को चोर नहीं कह रहा, मैं सिर्फ चाणक्य की बात को दोहरा रहा हूं।

    बिहार को बीमारू राज्यों की सूची से बाहर लाएंगे
    अमित शाह ने कहा कि बीमारू राज्यों की सूची में बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और राजस्थान शामिल थे। मध्यप्रदेश और राजस्थान में भाजपा की सरकार आई और राज्य इस सूची से निकलकर विकसित बन गए। उत्तरप्रदेश और बिहार में भी हम सत्ता में आए हैं। ये दोनों राज्य भी जल्द ही विकसित बन जाएंगे। कांग्रेस ने बिहार को 1.93 लाख करोड़ रुपए दिया। एनडीए सरकार ने साढ़े चार साल में 4.33 लाख करोड़ रुपए दिए।

    मोदी सरकार ने बढ़ाया देश का मान
    अमित शाह ने कहा कि आज भारत की इकोनॉमी दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ रही इकोनॉमी है। जब अर्थशास्त्री प्रधानमंत्री थे तो देश में महंगाई चरम पर थी। जनता ने चाय बनाने वाले को प्रधानमंत्री बनाया। उन्होंने देश की इकोनॉमी को ऊंचाई तक पहुंचाया।

    राहुल को नहीं है सवाल पूछने का हक: शाह
    अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी आजकल पूछ रहे हैं कि नरेंद्र मोदी की सरकार ने साढ़े चार साल में क्या किया? राहुल जी आपको सवाल पूछने का हक नहीं है। जनता पूछ रही है कि आपकी चार पीढ़ियों ने देश पर राज किया। इन 55 सालों में आपने क्या किया। कांग्रेस के राज में पाकिस्तान के सैनिक भारत में घुसकर हमारे जवानों का सिर काट देते थे। भाजपा की सरकार बनी तो कुछ आंतकी कश्मीर में घुस आए और सो रहे जवानों को शहीद कर दिया। सरकार ने इसका बदला लिया। पाकिस्तान में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक किया। राहुल सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाते हैं। मैं कहता हूं राहुल बाबा आपको सर्जिकल स्ट्राइक समझ नहीं आएगा। आपका संकल्प लालू जी के साथ है। आपको सिर्फ चारे की बात पता चलेगी।

    नीतीश कुमार से मुलाकात की और साथ नाश्ता किया:एनडीए की सरकार बनने के एक साल बाद शाह पटना आए हैं। दो दिवसीय दौरे में शाह ने लोकसभा चुनाव को लेकर पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं से फीडबैक लिया। इससे पहले उन्होंने गुरुवार सुबह स्टेट गेस्ट हाउस में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की और साथ नाश्ता किया। दोनों करीब 45 मिनट साथ रहे। शाह डिनर भी मुख्यमंत्री के साथ करेंगे। सूत्रों का कहना है कि शाम की मुलाकात में दोनों नेताओं के बीच लोकसभा चुनाव के लिए सीटों के बंटवारे पर चर्चा हो सकती है। नीतीश ने महागठबंधन (कांग्रेस और आरजेडी‌‌) से अलग होकर जुलाई 2017 में भाजपा के साथ सरकार बनाई थी।

    जदयू 20 से ज्यादा सीट मांग रही है:2014 के आम चुनाव में एनडीए में भाजपा, लोक जन शक्ति पार्टी (लोजपा) और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) थी। अब जदयू भी शामिल हो गई है। जदयू 20 से ज्यादा सीट मांग रही है। वहीं, राम विलास पासवान की लोजपा और रालोसपा पिछली बार की जीती सीटों पर अपना दावा पेश कर चुकी हैं।

    2014 में जदयू को मिली थीं 2 सीटें:बिहार में लोकसभा की 40 सीटें हैं। 2014 में जदयू एनडीए का हिस्सा नहीं था। चुनाव में उसे सिर्फ 2 सीटों पर जीत मिली थीं। वहीं, भाजपा को 22, लोजपा को 6 और रालोसपा को 3 सीटों पर जीत मिली थी। 2009 के लोकसभा चुनाव में 25 सीटों पर जदयू और 15 सीटों पर भाजपा चुनाव लड़ी थी। जदयू को 20 और भाजपा को 12 सीटों पर जीत मिली थीं।

  • सीट बंटवारे को लेकर लोग न जाने क्या-क्या कह रहे हैं, उन्हें लार टपकाने दीजिए; भाजपा सहयोगियों को संभालना जानती है: पटना में अमित शाह
    +3और स्लाइड देखें
    पटना के सरकारी गेस्ट हाउस में गुरुवार को अमित शाह और नीतीश कुमार की मुलाकात हुई।
  • सीट बंटवारे को लेकर लोग न जाने क्या-क्या कह रहे हैं, उन्हें लार टपकाने दीजिए; भाजपा सहयोगियों को संभालना जानती है: पटना में अमित शाह
    +3और स्लाइड देखें
    बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह दो दिन के दौरे पर पटना पहुंचे।
  • सीट बंटवारे को लेकर लोग न जाने क्या-क्या कह रहे हैं, उन्हें लार टपकाने दीजिए; भाजपा सहयोगियों को संभालना जानती है: पटना में अमित शाह
    +3और स्लाइड देखें
    बिहार में जदयू और भाजपा ने जुलाई 2017 में सरकार बनाई थी। इसके बाद पहली बार अमित शाह पटना पहुंचे।
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×