--Advertisement--

ऑनर किलिंग: फुफेरे भाई ने 11 दिन पहले खुशबू की कर दी थी हत्या

खुशबू का चल रहा था प्रेम-प्रसंग, सेप्टिक टैंक में छुपा दिया था शव

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 06:16 AM IST

सोनो (जमुई). विगत 11 दिनों से लापता खुशबू की हत्या कर दी गई। सोमवार सुबह पुलिस ने उसके फुफेरे भाई गोपाल तमोली के निर्माणाधीन शौचालय की टंकी से सड़ी-गली लाश को बरामद किया। इसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए जमुई भेज दिया। इधर सुबह जब लोगों को घटना की जानकारी मिली तो हजारों की संख्या में ग्रामीण पहले थाने पर जमा हुए और पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया। जानकारी मिलते ही झाझा एसडीपीओ भी सोनो थाने पहुंचे। लेकिन धीरे-धीरे लोगों का आक्रोश बढ़ता गया। करीब चार बजे ग्रामीण महिलाओं ने गोपाल तमौली के घर में आग लगा दी। उधर देर शाम खुशबू का शव सोनो पहुंचा।

- ग्रामीणों की मौजूदगी में अंतिम संस्कार किया गया। खुशबू की मां रीता देवी की मौत बीमारी से उस समय हो गई थी जब वह चार वर्ष की थी। पिता जगदीश तमोली की मौत भी 2015 में हो गई थी। माता-पिता की मौत के बाद खुशबू अकेली हो गई थी। खुशबू का पैतृक घर पटना जिले के मरांची में है। मां की मौत के बाद खुशबू फुफेरे भाई गोपाल तमोली के साथ सोनो में रहती थी।

प्रेमी सौरभ को लिया हिरासत में तब खुला राज

- रविवार को पुलिस को मामले के उद्भेदन में बड़ी कामयाबी तब हाथ लगी जब उसे खुशबू के प्रेमी सौरभ के बारे में पता चला। पुलिस ने बैजाडीह से सौरभ को हिरासत में लिया। सौरभ, गोपाल के किराएदार रिंकू की दुकान में नौकर था। सौरभ ने खुशबू को मोबाइल खरीद कर दिया था। इसकी जानकारी गोपाल एवं रिंकू दोनों को थी। जबकि पुलिस के पूछताछ में मोबाइल की जानकारी को गोपाल ने पुलिस से छिपाई थी। गोपाल के परिजन खुशबू के गायब होने पर विरोधाभासी बयान दे रहे थे।