पटना

--Advertisement--

लालू लालू

लालू लालू

Danik Bhaskar

Jan 10, 2018, 04:23 PM IST

पटना. इस वर्ष राज्य स्तरीय कृषि यांत्रिकीकरण मेला गांधी मैदान में 22 से 25 फरवरी तक आयोजित होगा। इसमें विभिन्न राज्यों के 100 से अधिक कृषि निर्माता कंपनियों के स्टॉल होंगे। चार दिनों तक चलने वाले कृषि यांत्रिकीकरण मेला में किसानों को खेती की जानकारी देने के लिए पाठशाला लगेंगे। सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित होंगे। मेला में आकर किसान अपनी पसंद की कृषि यंत्रों की खरीदारी कर सकते हैं।

कृषि उत्पादन आयुक्त सुनील कुमार सिंह की अध्यक्षता में हुई बैठक में मेला की तिथि तय की गई। इसमें उद्योग, वाणिज्यकर, पथ निर्माण, कला व संस्कृति, पशु व मत्स्य संसाधन विभाग, भवन निर्माण सहित संबंधित विभागों के अधिकारी बैठक में शामिल थे। कला व संस्कृति विभाग को सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजन की जिम्मेदारी दी गई है। मेला में विभिन्न जिलों से किसानों को लाने की जिम्मेदारी जिला कषि पदाधिकारी को दी जाएगी।

मेला में राज्य के कृषि यंत्र निर्माताओं के साथ ही आंध्रप्रदेश, कर्नाटक, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, केरल सहित विभिन्न राज्यों के साथ ही इटली, जर्मनी और जापान से भी कृषि यंत्र निर्माताओं के शामिल होने की संभावना है। कृषि यंत्र निर्माताओं को शामिल होने के लिए सीआईआई आमंत्रण देगा। मेला आयोजन के लिए राज्य सरकार की ओर से सीआईआई को 20 लाख रुपए दिए जाते हैं। पूरी व्यवस्था सीआईआई द्वारा किया जाता है।

2017-18 में कृषि यांत्रिकीकरण मेला के लिए 175 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। कृषि विभाग के अधिकारी बताते हैं कि डीबीटी के कारण कृषि यंत्र खरीदने में किसानों की रुचि घटी है। हालांकि छोटे यंत्रों की खरीद अधिक हो रही है। विभिन्न जिलों में जिला स्तरीय मेला आयोजित हो चुके हैं। कई जिलों में द्धितीय चरण में मेला आयोजित हो रहे हैं।

पिछले वर्ष भी राज्य स्तरीय कृषि यांत्रकीकरण मेला गांधी मैदान में ही आयोजित हुई थी। इसके पहले 2010 से राज्य स्तरीय कृषि यांत्रिकीकरण मेला वेटनरी कॉलेज मैदान पर आयोजित किया जाता था। मेला का मुख्य उद्देश्य खेती में यांत्रिकीकरण को बढ़ावा देना है। इस प्रकार के मेला से राज्य में कृषि यंत्रों का उपयोग बढ़ा है, लेकिन राष्ट्रीय औसत की तुलना में बिहार अभी भी काफी पीछे है। राष्ट्रीय औसत की तुलना में बिहार में यांत्रिकीकरण लगभग आधा है।

Click to listen..