--Advertisement--

उत्कर्ष उत्कर्ष

उत्कर्ष उत्कर्ष

Dainik Bhaskar

Dec 03, 2017, 11:31 AM IST
पुलिसकर्मी को झाड़ू से पीटती म पुलिसकर्मी को झाड़ू से पीटती म

पटना. एक दर्जन से अधिक पुलिसवाले सड़क जाम हटाने की कोशिश कर रहे थे। तभी एक महिला हाथ में झाड़ू लिए उनकी ओर बढ़ी। महिला गुस्से में आग बबूला थी। वह पुलिसवालों को झाड़ू से मारने लगी। सबसे पहले एक पुलिस ऑफिसर महिला के गुस्से का शिकार बने। वह ताबड़तोड़ पुलिस ऑफिसर को पीट रही थी। अधिकारी को बचाने में जवान की भी हुई पिटाई...

- अधिकारी को पिटते देख साथी जवान ने बचाने की कोशिश को महिला उसे भी मारने लगी। महिला का गुस्सा देख पुलिसवालों ने भागने में ही भलाई समझी।

- पुलिस के जवान भागने लगे तो महिला ने पीछा कर उन्हें पीटा। वहां मौजूद लोग शोर मचाकर महिला को और अधिक पिटाई करने के लिए उकसा रहे थे।

शव रखकर किया था सड़क जाम

- पटना सिटी के गोपालपुर थाना क्षेत्र के बैरिया के जमीन कारोबारी कारू विश्कर्मा की दिल्ली के फरीदाबाद में हत्या कर दी गई थी।
- रविवार को शव घर आने के बाद गांव के लोगों का आक्रोश फूट पड़ा। विश्वकर्मा के परिजन और गांव के लोगों ने शव रखकर सड़क जाम कर दिया। वे हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे।
- सड़क जाम की सूचना मिलने पर लोकल पुलिस मौके पर पहुंची और जाम हटाने की कोशिश करने लगी। इसी बीच पुलिस वहां मौजूद महिला के गुस्से का शिकार हो गई। उग्र लोगों ने पुलिस पर पथराव भी किया।

फ्लाइट का टिकट भेज बुलाया था दिल्ली
- विश्वकर्मा की हत्या फरीदाबाद में हुई थी। डेढ़ करोड़ रुपए के लेन-देन को लेकर प्रॉपर्टी डीलर को दिल्ली बुलाया गया था। इसके बाद उनसे मारपीट की गई और दो गोलियां मारकर सूरजकुंड रोड किनारे फेंक दिया गया। कुछ समय बाद उसने दम तोड़ दिया।
- मरने से पहले मृतक ने घटना की सूचना परिजनों को दे दी थी। परिजनों ने इसकी सूचना सूरजकुंड थाने की पुलिस को फोन पर दी। इसके बाद पुलिस ने मौके पर जाकर शव को बरामद कर लिया।
- बिहार के पटना निवासी रंजीत सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उनके जीजा प्रवीन (37 साल) प्रॉपर्टी डीलर थे। पटना निवासी वरुण सिंह से जीजा ने किसी को एक प्लॉट दिलाया था। इस प्लॉट के बदले वरुण सिंह को डेढ़ करोड़ रुपए भुगतान किए गए थे, मगर वरुण प्लॉट की रजिस्ट्री नहीं करा रहा था।
- प्रवीण उससे लगातार रुपए वापस करने या रजिस्ट्री कराने के लिए दबाव डाल रहे थे। 29 नवंबर की शाम वरुण ने प्रवीण को पेमेंट करने के बहाने दिल्ली बुलाया। यहां दिल्ली एयरपोर्ट पर चार-पांच युवकों ने उन्हें बोलेरो कार में बैठा लिया। उन्हें फरीदाबाद की तरफ ले आए।
- कार में उनके साथ मारपीट की गई। उनके पैर तोड़ दिए गए। उन्हें दो गोलियां मारी गईं। इसके बाद उन्हें अधमरी हालत में सूरजकुंड-पाली रोड पर फेंक कर भाग गए।
- प्रवीन ने 30 नवंबर की सुबह पटना में पत्नी संगीता को फोन कर सारी घटना बताई। परिजनों ने फरीदाबाद पुलिस से संपर्क किया। इसके बाद 11 बजे प्रवीन ने फोन उठाना बंद कर दिया। देर शाम पुलिस ने उनका शव सूरजकुंड रोड से बरामद किया।

आगे की स्लाइड्स में देखें फोटोज...

X
पुलिसकर्मी को झाड़ू से पीटती मपुलिसकर्मी को झाड़ू से पीटती म
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..