--Advertisement--

गई है।

गई है।

Danik Bhaskar | Dec 14, 2017, 10:10 AM IST

पटना. राज्य के मछलीपालकों को सस्ते दर पर मछली क दाना उपलब्ध होगा। इस वर्ष राज्य में 6 फिश फीड मिल लगेगा। इसमें एक बड़ा यूनिट लगेगा, जिससे प्रति घंटा दो टन दाना का उत्पादन होगा। पांच यूनिट छोटा लगेगा। फिश फीड मिल लगाने के लिए सरकार मछलीपालकों को 50 प्रतिशत अनुदान दे रही है। अभी राज्य में आंध्रप्रदेश से मछली का दाना मंगाया जाता है, जो महंगा पड़ता है। फिश फीड मिल लगाने के लिए पशु व मत्स्य संसाधन विभाग ने सहमति दे दी है। अनुदान भी स्वीकृत कर लिया गया है। मक्का किसानों क भी मिलेगा फायदा...

राज्य में मछली के लिए दाना उत्पादन होने से मक्का किसानों को भी उचित कीमत मिलेगी। साथ ही रोजगार की भी संभावना बढ़ेगी। मधेपुरा में एक करोड़ की लागत से फिश फीड मिल लगेगा, इसमें 50 लाख रुपए सरकार अनुदान देगी। पटना में 2, नालंदा, बांका व सीतामढ़ी में एक-एक छोटा फिश फीड मिल लगेगा। छोटा फिश फीड मिल की लागत इकाई 10 लाख रुपए है, जिस पर सरकार 5 लाख रुपए अनुदान दे रही है।


मत्स्य निदेशक निशात अहमद ने कहा कि इस वर्ष 6 फिश फीड मिल स्थापित होंगे। मधेपुरा में बड़ा और पटना सहित चार जिलों में एक-एक छोटा मिल स्थापित होंगे। मछलीपालकों को सस्ता और गुणवत्तापूर्ण मछली का दाना उपलब्ध होगा। फिश फीड मिल स्थापना के लिए 50 प्रतिशत अनुदान दिया जा रहा है।