Hindi News »Bihar »Patna» Boat Accident In Bhagalpur

बच्चे चला रहे थे नाव, बीच गंगा में पलटी नौ डूबे, छह को बचाया गया, तीन लापता

नव वर्ष के पहले दिन पूरा देश उत्सवी माहौल में है, लेकिन भागलपुर में हुए नाव हादसा ने शहर में मातम है।

संजय कुमार | Last Modified - Jan 02, 2018, 06:26 AM IST

  • बच्चे चला रहे थे नाव, बीच गंगा में पलटी नौ डूबे, छह को बचाया गया, तीन लापता
    +3और स्लाइड देखें

    भागलपुर/सबौर.नववर्ष पर पिकनिक मनाने जा रहे बच्चों की नाव बीच गंगा में डूब गई और देखते ही देखते नौ बच्चे डूब गए। स्थानीय लोगों की मदद से छह बच्चों को सुरक्षित निकाला गया पर तीन बच्चों का सोमवार की देर रात तक कुछ पता नहीं चल पाया। हैरानी की बात यह कि नाव बच्चे खुद ही चला रहे थे। नाव का भी कुछ पता नहीं चल पाया है।


    सबौर के रजंदीपुर घाट पर सोमवार की सुबह आठ बजे सभी बच्चे नाव पर सवार होकर पिकनिक मनाने के लिए दियारा जा रहे थे। तेज हवा के कारण नाव पलट गई। लापता बच्चों की खोज के लिए नदी में महाजाल गिराया गया। एसडीआरएफ की दो टुकड़ी भी सभी की तलाश कर रही है। स्थानीय लोगों के मुताबिक नाव पर क्षमता से अधिक बच्चे सवार थे। उधर, हादसे की सूचना मिलते ही रजंदीपुर घाट पर पुलिस पहुंची। जिन बच्चों को बचाया गया उन्हें अपने साथ लेकर घटनास्थल का मुआयना किया। बच्चों ने जहां नाव पलटने की बात बताई, वहां महाजाल गिराकर लापता बच्चों की तलाशी की गई पर पुलिस को कोई सफलता नहीं मिली।

    12: 30 बजे एसडीआरएफ की दो टीम पहुंची

    12:30 बजे एसडीआरएफ की दो टीम पहुंची और रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया। घटना की जानकारी मिलने पर बीडीओ ममता प्रिया, सीओ तरुण केशरी, रजंदीपुर मुखिया शंकर प्रसाद मंडल आदि भी पहुंचे और लापता बच्चों के परिजनों को ढांढस बंधाया। दोपहर बाद डीएसपी विधि-व्यवस्था राजेश सिंह प्रभाकर भी पहुंचे।

    हादसे में बचे हुए बच्चे सहमे हैं, वे ठीक से कुछ भी नहीं बता पा रहे

    एसडीआरएफ व गोताखोरों की टीम को मिली असफलता के बाद नौका हादसे में लापता तीन बच्चों के नहीं मिलने से रजंदीपुर व लालूचक गांव में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है। महिलाओं का रो-रोकर बेहाल हैं। माताओं की चीत्कार के आगे सांत्वना देने पहुंची पड़ोसी महिलाओं का हिम्मत भी जवाब दे गया। हालत यह है कि हादसे में बचे हुए बच्चे इतना डरे-सहमे है कि वह ठीक से कुछ भी नहीं बता पा रहे हैं। परिवार को रोता देख वह रोने लगते हैं। नववर्ष पर हादसे के गम में किसी के घर चूल्हा नहीं जला। हर पल महिलाएं और बुजुर्ग लापता बच्चों के मिलने की राह देख रहे हैं। बच्चे की माताएं नदी किनारे पहुंचकर गंगा मइया से अपने लाल के लिए विनती भी करती रहीं। वे कहतीं रहीं कि हे गंगा मइया औलादों को लौटा दो। मौत के चंगुल से निकले ये 6 बच्चे डरे-सहमे हैं और सभी लापता बच्चे स्कूली छात्र हैं।

    7वीं में साेहित, छठी में पढ़ाई करता है आशीष

    आशीष रजंदीपुर मध्य विद्यालय में छठी कक्षा का छात्र है। वह तीन भाइयों में मंझला है। उसका बड़ा भाई जीतो मंडल व छोटा आशीष मंडल रजंदीपुर मध्य विद्यालय का ही छात्र है। लापता सोहित रजंदीपुर मध्य विद्यालय का ही सातवीं कक्षा का छात्र है। वह तीन भाइयों में मंझला है। बड़ा भाई रोहित सबौर हाईस्कूल का छात्र है। छोटा अमन पांचवीं कक्षा का छात्र है और मध्य विद्यालय रजंदीपुर में ही पढ़ता है। राजेश उर्फ राजू भी रजंदीपुर मध्य विद्यालय का ही छात्र है। दो भाइयों में वह बड़ा है। छोटा भाई श्याम है। बहन रानी गर्ल्स हाई स्कूल सबौर में पढ़ती है, जबकि छोटी बहन शिल्पा अानंद विद्यालय खानकित्ता में पढ़ती है।

    23 साल पहले रजंदीपुर घाट पर हुए हादसे में गई थी 8 लोगों की जान

    गंगा नदी के इसी रजंदीपुर घाट पर 23 साल पहले भी नाव पलट गई थी। 1994 के अगस्त में बाढ़ के दौरान दियारा से घास ला रहे दो परिवार के लोग डूब गए थे। उस समय 8 सदस्यों की डूबने से मौत हो गई थी। हादसे के बाद तत्कालीन डीएम अंशुली आर्या और एसपी केएस राजन भी घटनास्थल पर पहुंचे थे। उस समय हादसे की वजह छोटी नाव पर क्षमता से ज्यादा लोगों का चढ़ना और मकई का बोझा होना बताया गया था। हादसे में मारे गए लोगों में एक दंपति था। पति-पत्नी रजंदीपुर गांव के ही रहने वाले थे।

    भागलपुर में हो चुकी हैं तीन बड़ी नाव दुर्घटनाएं

    - 9 जनवरी 2012 - खरीक के मंझाओ गांव में गंगा में नाव पलट गई थी। इसमें 12 लोगों की जान गई थी
    - 22 मार्च 2013- एकचारी के रानी दियारा में गंगा नदी में नाव पलट जाने से 7 लोगों की मौत हो गई थी
    - 29 अगस्त 2016- ममलखा से खानकिता जा रही नाव रेलवे पुल से टकरा नाव गंगा में डूब गई थी।

    :- लापता बच्चे :

    1. आशीष कुमार (13)
    2. राजकुमार (12)
    3. सोहित कुमार (11)

    सुरक्षित निकाले गए बच्चे :
    1. गुलशन कुमार (8)
    2. रौशन मंडल (7)
    3. गुलशन मंडल (10)
    4. संतोष कुमार (12)
    5. रोहित कुमार (11)

  • बच्चे चला रहे थे नाव, बीच गंगा में पलटी नौ डूबे, छह को बचाया गया, तीन लापता
    +3और स्लाइड देखें
    इसी जगह हुआ था हादसा
  • बच्चे चला रहे थे नाव, बीच गंगा में पलटी नौ डूबे, छह को बचाया गया, तीन लापता
    +3और स्लाइड देखें
    लापता बच्चों की आस में नदी किनारे खड़े ग्रामीण
  • बच्चे चला रहे थे नाव, बीच गंगा में पलटी नौ डूबे, छह को बचाया गया, तीन लापता
    +3और स्लाइड देखें
    नाव से लापता बच्चों की तलाश में जुटी पुलिस टीम के साथ बीडीओ और सीओ।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×