• Home
  • Bihar
  • Patna
  • by election in jehanabad Candidates roamed the door to door contact
--Advertisement--

मुआवजा मुआवजा

मुआवजा मुआवजा

Danik Bhaskar | Mar 09, 2018, 10:31 AM IST

जहानाबाद. उपचुनाव के 48 घंटे पहले यहां प्रचार का शोर शुक्रवार की शाम थम गया। इसके बाद प्रत्याशी डोर टू डोर घूमकर संपर्क साधने में जुट गए हैं। अब किसी प्रत्याशी के पक्ष में सभा एवं प्रचार-प्रसार नहीं होगा।

स्टार कैंपेनर को भी जिला में रहने की अनुमति नहीं होगी। स्वास्थ्य खराब होने की स्थिति में ही वे रुक सकते हैं, हालांकि उन्हें बीमारी होने की मेडिकल बोर्ड की रिपोर्ट देनी होगी। प्रत्याशी एवं उनके चुनाव एजेंट को एक गाड़ी रखने की अनुमति मिलेगी। जो उल्लंघन करेंगे, उन पर कार्रवाई होगी। डीएम आलोक रंजन घोष एवं एसपी मनीष ने संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि 11 मार्च को होनेवाले विधानसभा उपचुनाव की तैयारी पूरी कर ली गई है। स्वच्छ, निष्पक्ष, निर्भिक एवं शांतिपूर्ण मतदान के लिए प्रशासन कटिबद्ध है। विधानसभा के कुल 357 बूथों पर 286098 मतदाता मत का प्रयोग करेंगे। इसमें पुरुष मतदाता संख्या 150106 तथा महिला मतदाता 135984 हैं।

महिलाओं और पुरुषों की लगेगी अलग-अलग कतार
रविवार को सुबह सात बजे से शाम पांच बजे तक मतदान का समय निर्धारित किया गया है। पांच बजे तक जो भी मतदाता मतदान केंद्र पर पहुंच जाएंगे, उनका मतदान सुनिश्चित कराया जाएगा।

असहाय लोग साथ ले जा सकेंगे बच्चा
वोटिंग करने के लिए वोटिंग पर्ची बीएलओ द्वारा मतदाताओं के पास पहुंचाई गई है। मतदाता निर्वाचन आयोग द्वारा जारी पहचान पत्र के साथ 12 वैकल्पिक फोटोयुक्त दस्तावेज पहचान के लिए उपयोग कर सकते हैं। महिला और पुरुष मतदाताओं की अलग कतार होगी। वृद्ध एवं गोद में बच्चे लिए महिलाओं को पहले मतदान कराने की प्राथमिकता होगी। अपंग-असहाय मतदान के दौरान मतदान केंद्रों पर सहयोग के लिए एक माइनर उम्र के बच्चे को ले जा सकते हैं। सभी बूथों पर मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं। पूर्व की तरह इस बार भी चुनाव तिथि को ड्राई डे घोषित किया गया है।

गड़बड़ी करनेवालों पर त्वरित कार्रवाई
चुनाव के दिन गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ जिला प्रशासन ने त्वरित कार्रवाई की व्यवस्था की है। डीएम और एसपी ने बताया कि गड़बड़ी की आशंका वाले संभावित बूथों की वीडियोग्राफी कराई जाएगी। जो भी गड़बड़ी करेंगे वे पुलिस के शिकंजे में होंगे। जिले की सीमाओं को सील कर दिया गया है। आने-जाने वालों को कड़ी जांच की जा रही है। सीमावर्ती जिले के पुलिस पदाधिकारी सीमाओं की निगरानी में जुटे हैं। मतदाताओं को डराने-धमकानेवाले असामाजिक तत्वों, आपराधिक तत्वों पर कड़ी नजर रखी जा रही है।282 बूथों को संवेदनशील घोषित किया गया है जिसमें 179 बूथ नक्सल प्रभावित हैं। सभी बूथों पर सीपीएमएफ की तैनाती की गई है।14कंपनी सीआरपीएफ व 1574 जिला बल की भी तैनाती की गई है।

1400 लोगों पर हुई कार्रवाई
विधि-व्यवस्था कार्य में 12 सुपर जोनल दंडाधिकारी एवं 34 पुलिस पदाधिकारी को लगाया गया है। 90 माइक्रो आब्जर्वर एवं 1963 चुनाव कर्मी लगाए गए हैं। प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसपी मनीष ने यह भी बताया कि चुनाव के दौरान गड़बड़ी फैलानेवाले 1400 लोगों पर निरोधात्मक कार्रवाई की गई है, जबकि जिले में 571 वारंटी गिरफ्तार किये गये हैं। 850 लीटर शराब बरामद किये गये हैं। ट्रैफिक नियम का उल्लंघन करनेवालों से 5 लाख 81 हजार जुर्माना वसूला जाएगा। 205 शस्त्रों को सत्यापन कराया गया है।