--Advertisement--

रहे है

रहे है

Danik Bhaskar | Feb 12, 2018, 05:52 PM IST

पटना। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद पर निशाना साधते हुए कहा कि सजा उनको हो रही है और बेवजह मुझ पर निशाना साधा जा रहा है। आश्चर्य होता है कि मीडिया में क्या-क्या बयान दिया जा रहा है। बीस साल पुराने मामले में आज सजा हो रही है। इसमें मेरी और नरेंद्र मोदी कोई भूमिका नहीं है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस मामले में सजा हो रही है उसमें पीआईएल तो सुशील मोदी, राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह, सरयू राय ने किया था। एक और आदमी (शिवानंद तिवारी) भी याचिका कर्ता थे लेकिन उनकी तो आवाज ही आजकल बदल गई है। कोर्ट के आदेश पर सीबीआई ने जांच की, कोर्ट में मामला चल रहा है। मैं न्यायिक निर्णय पर कोई प्रतिक्रिया मैं नहीं देता हूं। इतनी प्रमुखता से इन मुद्दों को जगह नहीं देनी चाहिए।

एनडीए में विवाद के मुद्दे पर मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं सरकार का मुखिया हूं, एनडीए का नहीं। वैसे हर पार्टी अपने-अपने ढंग से अपनी बात रखती है। बिहार में नया समीकरण बनाते समय मैंने बार-बार कहा कि मैं सब कुछ बर्दाश्त कर सकता हूं लेकिन भ्रष्टाचार और सुशासन के मुद्दे पर समझौता नहीं कर सकता। उस समय जो हालात हो गए थे, उसमें मेरे लिए काम कर पाना मुश्किल हो गया था। हमारा कमिटमेंट गवर्नेस के प्रति है, पहले भी था और आज भी है। जनता की सेवा के लिए हमारे नेतृत्व में मैनडेट मिला है। हमारी रुचि एक-एक क्षण का उपयोग लोगों की सेवा करने में है। हमारा कमिटमेंट बिहार के प्रति है, हम बिहार की सेवा कर रहे हैं, यह भी देश की सेवा है। केंद्र का सहयोग मिल रहा है, विकास में गति आयी है। जिन चीजों की जरुरत होगी, केंद्र से मांग करते रहेंगे। यह गठबंधन बिहार के विकास के हित में बना है।

बिहार में अपराध घटा
मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में अपराध में कमी हुई है। केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा एक लाख की जनसंख्या पर जो अपराध के आंकड़े जारी किए गए हैं, उसमें बिहार का स्थान 22वां है। स्थिति में सुधार हो रहा है। दहेज हत्या और महिलाओं पर जूर्म के मामले में बिहार की स्थिति उतनी अच्छी नहीं चल रही है, इसमें सुधार के लिए बाल विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ अभियान चलाया है। राज्य में होने वाले क्राइम में पुलिस तेजी से जांच कर रही है और डिटेक्ट कर रही है, जल्द से जल्द गिरफ्तारी हो रही है। क्राइम का फीगर घट रहा है। सरकारी तंत्र मुस्तैद है। हम स्थिति पर नजर बनाए रखते हैं।

केंद्र मांगेगा सुझाव तो बताएंगे
चुनाव आयोग द्वारा आरोपित लोगों के चुनाव नहीं लड़ने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि दो साल की सजा पाने वाले लोग पहले से ही चुनाव में भाग लेने से वंचित हैं। चुनाव से अन्य चीजों से संबंधित विचार के लिए संसद है, यह केंद्र का विषय है। अगर इस मुद्दे पर राज्य की राय मांगी जाएगी तो हम उस पर सुझाव देंगे।