--Advertisement--

राजद राजद

राजद राजद

Danik Bhaskar | Dec 27, 2017, 05:03 PM IST

पटना. सूबे के सुदूर इलाकों में भी बिजली आपूर्ति सिस्टम दुरुस्त करने की योजना पर काम शुरू हो गया है। इसके लिए 44 नए पावर सब स्टेशन का निर्माण होगा। पावर होल्डिंग कंपनी ने इसके लिए व्यापक कार्ययोजना बनायी है। बिजली कंपनी सभी गांवों में बिजली पहुंचाने के बाद सभी टोलों तक बिजली पहुंचाने का लक्ष्य लेकर चल रही है। अप्रैल तक इसे पूरा कर लेना है। इसके बाद हर घर बिजली पहुंचाने की योजना शुरू होगी। इसके लिए गांवों के अंदर भी ट्रांसमिशन और डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम दुरुस्त करना है।

पावर होल्डिंग कंपनी 352 करोड़ रुपए की 44 पावर सबस्टेशन की योजना पर काम कर रही है। इसमें उत्तर बिहार में 24, दक्षिण बिहार में 20 पावर सब स्टेशन का निर्माण होगा। उत्तर बिहार में इन निर्माणों पर 252 करोड़ रुपए खर्च होंगे जबकि दक्षिण बिहार में इन पावर सब स्टेशनों पर 136 करोड़ खर्च होंगे। इनकी क्षमता 33/11 केवी होगी। इसके बाद सुदूर इलाकों में भी बिजली आपूर्ति सिस्टम बेहतर हो सकेगा। इन पावर सब स्टेशनों के बनने के बाद टोलों तक बिजली पहुंचाने की योजना सफल हो सकेगी।

यहां बनेगा पावर सब स्टेशन
उत्तर बिहार:
(24- 215.74 करोड़) धानुकी-लौकाहा व हिसरबौरहर-हरलाखी (मधुबनी), भटाही-जंदाहा (वैशाली), उसरी बाजार, नारायणपुर- तरैया, पुचरी बाजार-बनियापुर व जगदीशपुर-गरखा (सारण), कुमैया, विशुनपुरा-बाघा (पश्चिम चंपारण), सिंघिया खुर्द (समस्तीपुर), चमथा-बछवाड़ा, सिमरिया-बरौनी, चक हमीद-बखरी (बेगूसराय), बेलाही (कोसी बांध)-ऐना महिषी (सहरसा) मैवा (खुटा बैजनाथपुर) भरगामा, बोची, बलुआ-पलासी (अररिया), सेमापुर-बरारी (कटिहार), ओलापुर-1 (खगड़िया), बेलवा काशीपुर व वसंतपुर मिलिक (किशनगंज), सोनपुर (छपरा). चनपटिया (प, चंपारण), किशनगंज, ठाकुरगंज (किशनगंज), बोखरा (सीतामढ़ी)

दक्षिण बिहार: (20- 135.95 करोड़) महाराजगंज,जमुआ-कुटुम्बा व टंडवा, बेनी गंझर-नवीनगर (औरंगाबाद), वार्ने साउथ, चानन व बड़ा सुईया, चानन (बांका), सलेमपुर-धामर, आरा (भोजपुर), रामपुर डेहरी-तिवया, चौसा (बक्सर), नैयाडिह, चरका पत्थर- सोनो (जमुई), मुरौरा, मेघिनगवा-बिहारशरीफ (नालंदा), गुप्ताधाम, उगहनी-चेनारी व पहलेजा, डरीहाट-डेहरी (रोहतास), राजापुर, थेरा-वारिसलीगंज व मंझीला-मेसकौर (नवादा), खैरा, पीपरा-बरियारपुर (मुंगेर), कोल डिपो, डेहरी-डेहरी नगर परिषद् (रोहतास), खेमनीचक, अशोपुर, सेंट्रल इलेक्ट्रिक सप्लाई एरिया, आर.के.नगर, बीपीपीएचसीएल कॉलोनी (पटना) और भेलवार-काको (जहानाबाद)