--Advertisement--

स्टार,

स्टार,

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2018, 10:06 AM IST

पटना. किसान नयी उन्नत तकनीक अपनाकर खेती करें, तो अधिक लाभ होगा। समेकित खेती पर किसानों को ध्यान देना चाहिए। इस तकनीक से सामान्य खेती की तुलना में चार से पांच गुना अधिक लाभ होता है। शनिवार को आईसीएआर परिसर में तीन दिवसीय एग्रो एक्सपो के समापन कार्यक्रम में कृषि विशेषज्ञों ने किसानों को यह सलाह दी।

मुख्य अतिथि दीघा के विधायक संजीव चौरसिया ने कहा कि नई तकनीक के कारण ही कृषि क्षेत्र में काफी प्रगति हुई है। केंद्र और राज्य सरकार किसानों की आय बढ़ाने की दिशा में काम कर रही है। हर खेत में पानी पहुंचाने की व्यवस्था की जा रही है। ई मंडी की व्यवस्था लागू की जा रही है। मछलीपालन और पशुपालन के क्षेत्र में बिहार में काफी संभावना है।

बीएयू के कुलपति डॉ. अजय कुमार सिंह ने कहा कि कृषि वैज्ञानिक नए-नए बीजों की खोज किसानों के लाभ के लिए कर रहे हैं। फसल और पौधों को बीमारी से बचाने के लिए भी नियमित सलाह दी जाती है। किसान पाठशाला के माध्यम से किसानों को खेती की उन्नत तकनीक की जानकारी दी जा रही है।

आईसीएआर के निदेशक डॉ. भगवती प्रसाद भट्‌ट ने कहा कि कृषि मेला से किसानों को काफी लाभ होता है। नई-नई जानकारी मिलती है। इसके पहले एग्री एक्सपो में कृषक वैज्ञानिक संगोष्ठी भी हुई। समापन समारोह में 500 किसान शामिल हुए। धन्यवाद ज्ञापन डॉ. वीरेंद्र यादव व संचालन डॉ. मान्धाता सिंह ने किया। मौके पर डॉ. अमिताभ डे, डॉ. जेएस मिश्रा, डॉ. उज्जवल कुमार, डॉ. नरेश चंद्र, डॉ. विकास सरकार, डॉ. धीरज कुमार, डॉ. मणिभूषण, डॉ. राकेश कुमार, डॉ. प्रेम कुमार सुंदरम, डॉ. किकिला भाटिया, डॉ. कीर्ति सौरभ, कोटेश्वर राव व डॉ. अभय कुमार आदि मौजूद थे।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..