Hindi News »Bihar »Patna» Home Of Ips Officer Op Singh

ये है यूपी के होने वाले नए DGP का पैतृक घर, पिता शहर में नहीं बना सके घर

जब भी मौका मिलता है ओपी सिंह अपने मीरा बिगहा स्थिति पैतृक गांव पर आते हैं।

Manish Kumar | Last Modified - Jan 01, 2018, 04:08 PM IST

    • यह है यूपी होने वाले नए डीजीपी ओपी सिंह का पैतृक घर।

      पटना.बिहार के गया जिले के रहने वाले आईपीएस ऑफिसर ओपी सिंह 1 जनवरी 2018 को यूपी को नए डीजीपी की कमान संभालेंगे। जब भी मौका मिलता है ओपी सिंह अपने मीरा बिगहा स्थिति पैतृक गांव पर आते हैं। गांव में अभी भी पुराना घर है। घर पर कोई नहीं रहता है। सिर्फ ताला बंद रहता है। पिता इनके बैरिस्टर रह चुके है। वाइफ और बेटी है सुप्रीम कोर्ट में वकील...


      -dainikbhaskar.com बातचीत में डॉ. प्रकाश सिंह ने बताया कि ओपी बचपन से अज्ञाकारी रहे हैं।
      - उनके साथ भाई के बदले गार्जियन का रोल निभाया हूं। हर कदम पर उनको सहयोग करने के लिए मैं तैयार रहा।
      - जब छोटे थे उस दौरान किसी बात को लेकर ओपी की कभी-कभी पिटाई भी कर देता था।
      - डॉ. प्रकाश ने बताया कि ओपी के दो लड़के और एक लड़की हैं।
      - उनकी पत्नी नीलम सिंह और बेटी सुप्रीम कोर्ट में वकील हैं। एक बेटा इंजीनियर हैं।
      - बिहार की रहने वाली नीलम से ओपी की शादी हुई है। वह एक रिटायर्ड जस्टिस की बेटी हैं।


      पिता शहर में नहीं बना सके घर
      - डॉ. प्रकाश सिंह ने बताया कि पिता शिवधारी सिंह बैरिस्टर थे। बैरिस्टर एट लॉ होने के बाद भी पुलिस विभाग में सेवा की।
      - उनके जैसे इमानदार ऑफिसर मैंने नहीं देखा था। पिता जी को कई विषयों की जानकारी रहती थी।
      - पुलिस ऑफिसर के बेटे रहने के दौरान कभी भी नहीं देखा कि मेरे घर में गलत पैसा आया हो।
      - परिवार को कई तरह की परेशानी भी उठानी पड़ी। परिवार के पास शहर में रहने के लिए एक घर तक नहीं था।
      - फिर भी पिता जी कभी भी पैसा कमाने के लिए गलत काम नहीं किए। गांव पर सिर्फ पैतृक घर है।
      - जो सैलरी उनको मिलती थी उसी से ही परिवार का खर्चा चलता था। मेरे दो भाई है। एक बहन है। ओपी सबसे छोटे हैं।
      - पिता जी का 1973 में निधन हो गया था। उस दौरान दोनों भाई पढ़ाई करते थे।

      कौन हैं ओपी सिंह
      -ओपी सिंह बिहार के गया जिले के मीरा बिगहा गांव के रहने वाले हैं। वो वर्तमान में सीआईएसएफ डीजी के पद पर तैनात हैं। वह 1983 बैंच के यूपी कैडर के आईपीएस ऑफिसर हैं। केंद्र और यूपी में कई महत्वपूर्ण जिम्मेदारियों को निभा चुके हैं।
      -ओपी सिंह को 1993 में बहादुरी के लिए इंडियन पुलिस मेडल, 1999 में सराहनीय सेवाओं के लिए राष्ट्रपति पुलिस मेडल और 2005 में विशिष्ट सेवाओं के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक मिल चुका है।

      फोटो: अजीत कुमार

    • ये है यूपी के होने वाले नए DGP का पैतृक घर, पिता शहर में नहीं बना सके घर
      +7और स्लाइड देखें
      ओपी सिंह सोमवार को यूपी के डीजीपी पद संभालेंगे।
    • ये है यूपी के होने वाले नए DGP का पैतृक घर, पिता शहर में नहीं बना सके घर
      +7और स्लाइड देखें
      ओपी सिंह जब भी बिहार आते है वह अपने पैतृक घर जरूर जाते हैं।
    • ये है यूपी के होने वाले नए DGP का पैतृक घर, पिता शहर में नहीं बना सके घर
      +7और स्लाइड देखें
      फिलहाल पैतृक घर पर कोई नहीं रहता है।
    • ये है यूपी के होने वाले नए DGP का पैतृक घर, पिता शहर में नहीं बना सके घर
      +7और स्लाइड देखें
      कुछ दिन पहले ही क्रिकेट टूनामेंट के कार्यक्रम में भाग लेने के लिए गांव आए थे।
    • ये है यूपी के होने वाले नए DGP का पैतृक घर, पिता शहर में नहीं बना सके घर
      +7और स्लाइड देखें
      ओपी सिंह बिहार के गया जिले के मीरा बिगहा गांव के रहने वाले हैं।
    • ये है यूपी के होने वाले नए DGP का पैतृक घर, पिता शहर में नहीं बना सके घर
      +7और स्लाइड देखें
      केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के साथ ओपी सिंह।
    • ये है यूपी के होने वाले नए DGP का पैतृक घर, पिता शहर में नहीं बना सके घर
      +7और स्लाइड देखें
      यूपी के नए डीजीपी बनने की खबर सुन गांव के लोगों में खुशी का माहौल है।
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

    More From Patna

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×