--Advertisement--

करीब करीब

करीब करीब

Danik Bhaskar | Jan 24, 2018, 10:57 AM IST

पटना. बिहार के गोपालगंज जिले के छोटे से गांव फुलवरिया में जन्में लालू यादव का बचपन बेहद गरीबी में बीता। मजदूरी कर पेट पालने वाले परिवार में दो वक्त की रोटी भी मुश्किल से जुटती थी। तमाम परेशानियों के बाद भी लालू की पढ़ने की ललक कम नहीं थी। दिन में वह पास के गांव में स्थित स्कूल में पढ़ने जाते और लौटकर गाय-भैंस चराते। जब उनकी शादी राबड़ी देवी से हुई तो दहेज में जर्सी गाय मिली। लालू उसी गाय का दूध बेचने का धंधा करने लगे।

लालू के फर्श से अर्श तक के सफर की कहानी जितनी रोचक है उतना ही अनोखा उनका जीवन भी है। मूड में हो तो लालू किसी कॉमेडियन से भी अधिक हंसा सकते हैं और जब विरोधियों पर तीखे हमले करने लगे तो कई बार शब्दों की सीमाएं भी लांघ जाते हैं। चुटीली भाषण शैली और ठेठ अंदाज के चलते लालू जब मंच पर भाषण देते हैं तो सामने जमा भीड़ को लगता है कि उनके बीच से ही कोई बोल रहा है। अपनी इसी शैली के चलते लालू ने जनता का दिल जीता। आइए पढ़ते हैं लालू के जीवन से जुड़ी कुछ रोचक बातें...