--Advertisement--

को खूब

को खूब

Danik Bhaskar | Jan 07, 2018, 06:48 PM IST

पटना। प्रदेश जदयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि सामंतवादी प्रवृत्ति के लालू प्रसाद अपने स्वार्थ के लिए कर्यकर्ताओं से कुछ भी करवा सकते हैं। दो ’सेवादारों’ को रांची की बिरसा मुंडा जेल में बंद करा कर लालू ने यह बात साबित कर दी। आखिर लालू ने स्वजातीय कार्यकर्ताओं लक्ष्मण महतो और मदन यादव को अपना पैर दबवाने, शरीर में मालिश और सेवा करवाने के लिए जेल तक पहुंचा दिया। लालू समाजवाद और सामाजिक न्याय के इतने बड़े पाखंडी हैं।


जिन गरीबों ने उनकी सेवा की, नौकरी के लिए उन लोगों की जमीन भी लालू ने अपने नाम करा ली। अब इससे बड़ा कुकृत्य और क्या होगा कि खुद घोटाले करके जेल जाने के बाद दो गरीब लोगों को फर्जी मुकदमे में जेल पहुंचवा लिया। झारखंड सरकार को ताजा मामले की पूरी जांच करा कर समय सीमा के तहत दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई करनी चाहिए। राजद अध्यक्ष कोई स्वतंत्रता संग्राम या गरीबों की लड़ाई के लिए जेल नहीं गए हैं बल्कि भ्रष्टाचार के मामले में जेल गए हैं।