Hindi News »Bihar »Patna» Lalu Should Serve The Sons Of The Poor For Cutting Punishment In Jail

जेल में सजा काटने के लिए लालू को चाहिए गरीबों के बेटों की सेवा: मोदी

लालू यादव ने पहले गरीबों की हकमारी की और अब जेल में सजा काटने के लिए भी उन्हें गरीब के बेटों की सेवा चाहिए।

Alok Chandra | Last Modified - Jan 09, 2018, 07:17 PM IST

जेल में सजा काटने के लिए लालू को चाहिए गरीबों के बेटों की सेवा: मोदी

पटना. उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि लालू यादव ने पहले गरीबों की हकमारी की और अब जेल में सजा काटने के लिए भी उन्हें गरीब के बेटों की सेवा चाहिए। मोदी ने मंगलवार को ट्वीट करके कहा कि गरीबों को धोखा देकर मुख्यमंत्री बनने वाले लालू प्रसाद ने गरीबों के लिए सड़क,बिजली, पानी, पढ़ाई-लिखाई-दवाई और रोजी-रोटी का इंतजाम तो नहीं किया, लेकिन अपनी सात पीढ़ियों के लिए सम्पत्ति जुटाने के लिए घोटाले अवश्य शुरू कर दिये। उनके शासन में चारा घोटाला, अलकतरा घोटाला और बीएड डिग्री घोटाला बिहार की बदनामी का कारण बना था।

मोदी ने कहा कि मध्यकालीन चीन में राजा की मृत्यु होने पर शव के साथ उनके जरूरी सामान और करीबी दास-दासियों को भी जिंदा दफनाने की कहानियां मिलती हैं। राजा होने की सामंती सोच वाले लोग जेल जाने पर सेवकों को वहां बुलाने का इंतजाम कर पुरानी चीनी प्रथा की याद दिला रहे हैं। ऐसे लोगों ने कफन में झोला बनवाने की भी तरकीब जरूर सोची होगी।

मोदी ने कहा कि राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में पहली विदेश यात्रा के दौरान जब बहरीन में अपने देश की एनडीए सरकार पर साम्प्रदायिक भेदभाव का आरोप लगा रहे थे, उसी समय भारत के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी हज यात्रा का समुद्री मार्ग फिर से खोलने के द्विपक्षीय समझौते पर मक्का में हस्ताक्षर कर रहे थे। जिस कांग्रेस ने कट्टरपंथियों का साथ दिया, वह बिहार में जातिवादियों के साथ खड़ी है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Patna News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: jail mein sjaa katne ke liye laalu ko chaahie garibon ke beton ki sevaa: modi
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×