--Advertisement--

युवती युवती

युवती युवती

Danik Bhaskar | Jan 24, 2018, 10:57 AM IST

रांची/पटना. चारा घोटाले से जुड़े तीसरे केस में बुधवार को लालू प्रसाद दोषी करार दिए गए। सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने चाईबासा ट्रेजरी से अवैध तरीके से निकाले गए 33.67 करोड़ रुपए मामले में यह फैसला सुनाया। इससे पहले वे देवघर ट्रेजरी और चाईबासा ट्रेजरी के एक और केस में दोषी करार दिए जा चुके हैं। कोर्ट ने बिहार के एक और पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्र को भी दोषी माना है। खास बात ये है कि देवघर ट्रेजरी केस में जगन्नाथ मिश्र भी आरोपी थे, लेकिन तब उन्हें बरी कर दिया गया था।

कितने आरोपियों को दोषी करार दिया गया?

- इस केस में 69 साल के लालू प्रसाद यादव समेत 50 आरोपियों को कोर्ट ने दोषी माना है। 6 आरोपियों को बरी कर दिया है।

क्या है चाईबासा ट्रेजरी मामला?
- चाईबासा ट्रेजरी से 1992-93 में 67 फर्जी आवंटन पत्र पर 33.67 करोड़ की अवैध निकासी हुई थी। 1996 में केस दर्ज हुआ। कुल 76 आरोपी थे। सुनवाई के दौरान 14 आरोपियों का निधन हो गया। दो आरोपी सुशील कुमार झा और प्रमोद कुमार जायसवाल ने जुर्म कबूल लिया। तीन आरोपियों दीपेश चांडक, आरके दास और शैलेश प्रसाद सिंह को सरकारी गवाह बना दिया गया।

लालू पर कितने केस चल रहे हैं?

- आरजेडी चीफ पर चारा घोटाले से जुड़े 6 केस चल रहे हैं। अब तक तीन मामलों में वो दोषी करार दिए गए हैं।

किन तीन मामलों में दोषी करार दिए गए?

- दो केस चाईबासा ट्रेजरी से जुड़े हैं। बुधवार को चाईबासा ट्रेजरी से अवैध तरीके से 33.67 करोड़ निकाले जाने के मामले में दोषी माना। इससे पहले 3 अक्टूबर, 2013 को चाईबासा ट्रेजरी से 37.7 करोड़ रुपए निकालने के मामले में कोर्ट ने पांच साल की जेल की सजा सुनाई थी।
- एक केस देवघर ट्रेजरी से जुड़ा है। इस घोटाले में उन्हें 23 दिसंबर, 2017 को दोषी ठहराया गया था और 6 जनवरी को साढ़े 3 साल की सजा सुनाई गई थी।

किन 3 मामलों में फैसला आना बाकी?
- दुमका ट्रेजरी केस में। इस मामले की सुनवाई भी सीबीआई के स्पेशल जज शिवपाल सिंह को कोर्ट में चल रही है।
- दूसरा, 3.13 करोड़ रुपए की अवैध निकासी का मामला है।
- तीसरा मामला डोरंडा ट्रेजरी से जुड़ा है। आरोप है कि इस घोटाले में 139 करोड़ रुपए की अवैध निकासी हुई थी। यह केस जज प्रदीप कुमार की अदालत में चल रहा है।