--Advertisement--

रोते हुए

रोते हुए

Dainik Bhaskar

Jan 07, 2018, 06:49 PM IST

पटना. उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि तीन तलाक की तरह बहुविवाह प्रथा पर रोक के लिए भी पहल होनी चाहिए। इसपर रोक के लिए कानून बने। उन्होंने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से आग्रह भी किया। उपमुख्यमंत्री ने इसे कुप्रथा बताते हुए मुस्लिम समाज के प्रगतिशील लोगों से आगे आने की भी अपील की।

मोदी ने कहा कि 1400 साल पहले बहुविवाह प्रथा चल सकती थी, लेकिन आज यह कहीं से प्रासंगिक नहीं है। देश के पहले पीएम जवाहरलाल नेहरु ने अपने समय हिन्दू कोड बिल में कई संशोधन करवाए। यह पूछने पर कि मुस्लिम से संबंधित प्रावधानों में संशोधन क्यों नहीं, तो उन्होंने कहा था कि इसका समय नहीं आया है। पर, अब वह समय आ गया है। दुनिया 21 वीं सदी में है और ऐसे में बहुविवाह प्रथा नहीं चल सकती।

मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधा और कहा कि वह आज वहीं गलती कर रही है जो राजीव गांधी ने किया था। उसके पास राजीव गांधी के उस पाप के प्रायश्चित का अवसर है जो उन्होंने शाहबानो मामले में किया। जब, एक महिला को 175 रुपए गुजारा भत्ता देने के सुप्रीम कोर्ट के निर्देश को बदलने के लिए संविधान संशोधन करवा दिया। तीन तलाक मामले में कांग्रेस ने लोकसभा में तो समर्थन किया लेकिन फिर मुल्ला-मौलवियों के दबाव में आकर राज्यसभा में इसका विरोध शुरु कर दिया। उसके कारण मामला लटक गया है। 22 देशों में तीन तलाक पर रोक है, फिर भारत में क्यों नहीं?

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..