--Advertisement--

रहा है।

रहा है।

Danik Bhaskar | Jan 16, 2018, 12:34 PM IST

पटना. रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि 21 जनवरी को बाल विवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ मानव श्रृंखला और 30 जनवरी को शिक्षा सुधार मानव कतार में सभी राजनीतिक दलों और लोगों को शामिल होना चाहिए। दोनों मानव श्रृंखला में शामिल होने के लिए विपक्ष सहित सभी राजनीतिक दलों के नेताओं से मिल कर बात करेंगे। मंगलवार को वे रालोसपा प्रदेश कार्यालय में पार्टी जिलाध्यक्षों की बैठक के बाद पत्रकारों से बात रहे थे।

उन्होंने एक सवाल के जवाब में एनडीए छोड़ने की बात को खारिज किया। राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने केंद्रीय एजेंसियों पर परेशान करने का आरोप लगाया है। क्या यह सच है? इस सवाल पर उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद पर पहले से ही चारा घोटाला का केस चल रहा है। केंद्रीय एजेंसियां उन्हें परेशान नहीं कर रही हैं।

आपने कहा कि पीछे दिनों सीएम के काफिले पर हमला में जदयू के ही लोग शामिल रहे हैं। जदयू के कौन नेता इसमें शामिल हैं? इस सवाल पर कहा - सोशल मीडिया के साथ ही कुछ मीडिया में आ रही खबरों के ही आधार पर मैंने यह बयान दिया था। मेरा या मेरी पार्टी ने घटना स्थल पर जाकर जांच के आधार पर ऐसा नहीं कहा है। लेकिन सीएम के काफिले पर हमला के कारणों में हर एंगल से जांच होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि 21 जनवरी को सामाजिक मुद्दों पर ही मानव श्रृंखला बनाया जा रहा है। इसमें सभी लोगों को शामिल होना चाहिए। रालोसपा के सभी सदस्य इस श्रृंखला में शामिल होंगे। 30 जनवरी को भी शिक्षा सुधार पर मानव कतार बनाने की रालोसपा ने आह्वान किया है। इसमें जदयू सहित सभी दलों को शामिल होना चाहिए।

30 जनवरी को प्रत्येक पंचायत से कम से कम एक-एक स्कूलों के पास शिक्षा सुधार मानव कतार बनाया जाएगा। अब आधा घंटा कतार लगाया जाएगा। यह 11.30 से 12 बजे तक होगा। इसके पहले लोग महात्मा गांधी की शहादत को याद करते हुए उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण करेंगे।