Hindi News »Bihar »Patna» Lecturers Could Choose BPSC

में ही

में ही

Vivek Kumar | Last Modified - Jan 13, 2018, 10:07 AM IST

पटना. लगभग दो साल बाद भी बिहार लोक सेवा आयोग ने विभिन्न विषयों में व्याख्याता चयन की प्रक्रिया पूरी नहीं की है। 3364 में अभी तक 1354 व्याख्याताओं का ही चयन कर विभाग को सूची भेजी है।

अभी भी इतिहास, जीवविज्ञान व समाजशास्त्र आदि विषयों के व्याख्याताओं का चयन प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकी है। इतिहास के अभ्यर्थियों के चयन के लिए बीपीएससी ने शिक्षा विभाग ने गाइडलाइन मांगा है। राज्य के 10 विवि में वर्तमान में स्वीकृत पद 13564 हैं, जबकि कार्यरत 6079 हैं। रिक्त पद 7485 हैं।

राज्य के विश्वविद्यालयों में 7 हजार से अधिक शिक्षकों (सहायक प्रोफेसर) के रिक्त पद हैं। बीपीएससी ने चयन प्रक्रिया पूरी होने के बाद विवि सेवा आयोग से बहाली होनी है। विधानसभा में बिहार राज्य विवि सेवा आयोग विधेक 2017 पारित होने के बाद राज्यपाल ने भी आयोग गठन की स्वीकृति दे दी है।

अभी तक बीपीएससी ने मैथिली, मनोविज्ञान, दर्शनशास्त्र, भौतिकी विज्ञान, अंग्रेजी, अर्थशास्त्र, रसायन शास्त्र, गणित, भूगोल, सांख्यिकी और भूगर्भ शास्त्र के व्याख्याताओं के 1354 अभ्यर्थियों को चयन कर सूची विभाग को भेजी है। विभाग ने विभिन्न विश्वविद्यालयों में आवश्यतानुसार चयनित व्याख्याताओं की सूची भेज दी है। जिस रफ्तार से चयन प्रक्रिया चल रही है, उससे अभी छह माह से अधिक समय इसके पूरा होने में लग जाएगा। एक साल में विश्वविद्यालय सेवा आयोग गठन कर अगली बहाली की प्रक्रिया शुरू हो सकती है।

बीपीएससी ने व्याख्याता बहाली में चयन प्रक्रिया पर कई सवाल भी उठाये जाते रहे। चयन प्रक्रिया में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए अभ्यर्थियों ने बीपीएससी गेट पर कई बार हंगामा भी किया। मामले को हाईकोर्ट में भी चुनौती दी गई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×