--Advertisement--

सुबह एक

सुबह एक

Danik Bhaskar | Dec 16, 2017, 12:42 PM IST
संडे मॉर्निंग को पूरा पटना सड़ संडे मॉर्निंग को पूरा पटना सड़

पटना. संडे मॉर्निंग पूरा पटना सड़क पर था। मैराथन दौड़ में शामिल होने के लिए सुबह सुबह 4 हजार से ज्यादा लोग पटना के गांधी मैदान में पहुंचे थे। ओलंपियन एथलीट फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह ने हरी झंडी दिखा कर विदा किया। 'रन फॉर बिहार' थीम पर आयोजित पटना हाफ मैराथन में देश के कई हिस्सों से धावक पहुंचे। जिला प्रशासन की ओर से इसका आयोजन किया गया था। किसी प्रकार की कोई अप्रिय घटना नहीं हो इसको लेकर चप्पे चप्पे पर पुलिस के जवानों की तैनाती की गयी थी। तीन केटेगरी में था दौड़...

- 'रन फॉर बिहार' थीम पर आयोजित पटना हाफ मैराथन दौड़ की तीन केटेगरी थी।

-पहली केटेगरी 21.1 किमी की थी, जिसमें 350 प्रतिभागी शामिल हुए।
- 10 किमी की दूसरी दौड़ में 450 प्रतिभागी तो चार किमी लंबी तीसरी दौड़ में 3200 प्रतिभागी शामिल हुए।

- मैराथन दौड़ की खास बात यह था कि इसमें विभिन्‍न आयु के लोगों के साथ ट्रांसजेंडर भी शामिल रहे।

पुरस्कार में 10 लाख रुपए दिए जायेंगे
- उम्र के अनुसार दौड़ की केटेगरी बांटा गया था। क्योंकि मैराथन दौड़ में महिलाएं, बच्चे, बुढ़े और जवान भी भाग लिया।
- मैराथन दौड़ में सफल लोगों के बीच 10 लाख रुपये के पुरस्कार 126 प्रतिभागियों के बीच बांटे जा रहे हैं।
-मैराथ दौड़ में जीतने वाले को पहला पुरस्कार 40 हजार, दूसरे को 20 हजार तथा तीसरा पुरस्कार 15 हजार दिया गया।
- अन्य श्रेणी में प्रथम 20 हजार, द्वितीय 10 हजार और तृतीय 05 हजार रुपये दिये जायेंगे।

शराबबंदी-दहेजबंदी के लिए हुए नुक्कड़ नाटक
- मैराथन के दौरान जगह-जगह नुक्कड़ नाटक और मनोरंजन के साधन उपलब्ध रहे।
-नुक्कड़ नाटक के माध्यम से लोगों के बीच शराबबंदी, दहेजप्रथा, बाल विवाह के प्रति जागरुक किया गया है। - नुक्कड़ नाटक, गीत एवं पोस्टर के माध्यम से सामाजिक सरोकार के प्रति लोगों को जागरूकता की झलक दिखी।

आगे की स्लाइड्स में देखें मैराथन दौड़ के फोटोज्...

फोटो- शेखर/शबिना