• Home
  • Bihar
  • Patna
  • Principal Secretary of Finance and Education will be monitoring daily
--Advertisement--

दुर्घटनाग्रस्त दुर्घटनाग्रस्त

दुर्घटनाग्रस्त दुर्घटनाग्रस्त

Danik Bhaskar | Dec 20, 2017, 03:58 PM IST

पटना. अब स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना की मॉनीटरिंग रोजाना वित्त विभाग की प्रधान सचिव और शिक्षा विभाग सचिव करेंगे। बुधवार को वित्त विभाग की प्रधान सचिव सुजाता चतुर्वेदी की अध्यक्षता में योजना क्रियान्वयन व प्रगति को लेकर हुई समीक्षा बैठक में बैंक के रवैये पर नारजगी जताई गई। बैंक के अधिकारियों से कहा गया कि जब सरकार 4 लाख रुपए तक शिक्षा ऋण की गारंटी सरकार दे रही है, तो छात्रों को ऋण देने में बैंक क्यों आनाकानी करते हैं?

स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना के लिए जिलों से केस स्टडी कर प्राथमिकता के आधार पर निष्पादन का बैंक के अधिकारियों को निर्देश दिया। इस योजना के शुरू हुई एक साल से अधिक हो चुके हैं, लेकिन अभी तक काफी कम छात्रों को शिक्षा ऋण मिलने पर बैंक के दौरान नाराजगी जताई गई। 29 हजार से अधिक छात्रों ने स्टूडेंट कार्ड योजना के लिए आवेदन किया, लेकिन अभी तक मात्र 11 हजार को क्रेडिट कार्ड जारी किया गया। इसमें 6455 छात्रों की राशि जारी हुई। 1452 आवेदन बैंक से रिजेक्ट किए गए हैं।

बैठक में शिक्षा विभाग के सचिव आरएल चोंगथू, स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना के प्रभारी अधिकारी प्रभात कुमार पंकज, अरविंद कुमार सिन्हा सहित बैंक के अधिकारी मौजूद थे।