--Advertisement--

श्रद्धालु

श्रद्धालु

Danik Bhaskar | Dec 26, 2017, 05:04 PM IST

पटना. राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने कहा है कि क्या मुख्यमंत्री नीतीश कुमार प्रायश्चित कर रहे हैं? कल पटना के नवनिर्मित उपरी सड़क के उद्घाटन के अवसर पर नीतीश कुमार का भाषण हुआ। भाषण के दौरान स्टेशन वाली बड़ी मस्जिद से आजान की आवाज आई। आजान की आवाज के बीच भी नीतीश जी का भाषण जारी रहा।

तिवारी ने कहा कि दर्जनों सभाओं में नीतीश जी के साथ रहा हूं। उन्होंने अपनी सभाओं में एक परंपरा बनाई थी। भाषण के दरम्यान जब भी आजान की आवाज आती थी नीतीश रूककर आजान पूरा होने का इंतज़ार करते थे। आजान पूरा होने के बाद ही उनका भाषण फिर शुरू होता था। सार्वजनिक सभाओं में नीतीश जी की पार्टी का प्राय: हर कार्यकर्ता इसका पालन करता रहा है। भाजपा के साथ आज के पहले वाले गठबंधन में भी यही परंपरा थी।

शिवानंद ने कहा कि मंगलवार को उद्घाटन भाषण में अपनी उस पुरानी परंपरा को उन्होने तोड़ दिया। नीतीश कुमार में आए इस मौलिक परिवर्तन की क्या वजह हो सकती है! मुझे लगता है कि पिछले दिनों, पटना विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा के लिए नीतीश कुमार की सार्वजनिक हाथजोड़ी हो या बाढ़ के समय प्रधानमंत्री का निरीक्षण दौरा, नीतीश कुमार को पर्याप्त संकेत मिल चुका है कि नरेंद्र मोदी कुछ भी भूले नहीं हैं।

उन्हें 2008 के भोज का न्योता वापस लेने वाला अपमान तो याद है ही साथ-साथ नीतीश की सभी कटु उक्तियां भी उनके स्मरण में हैं। नीतीश चतुर नेता हैं। भांप गए हैं। कल अपने सेक्यूलरिज्म का चोला उन्होंने उतार दिया। आगे अपने में और क्या बदलाव लाने जा रहे हैं यह देखना दिलचस्प होगा।