--Advertisement--

फतुहा फतुहा

फतुहा फतुहा

Danik Bhaskar | Dec 20, 2017, 04:03 PM IST
पैदल मार्च करते हुए पटना के डा पैदल मार्च करते हुए पटना के डा

पटना. बिहार में बालू और गिट्टी की बिक्री पर सरकार के कंट्रोल के खिलाफ आरजेडी की ओर से गुरुवार को बिहार बंद कराया गया। इस दौरान पार्टी के नेता और कार्यकर्ताओं ने सड़कों पर जाम लगा दिया और आगजनी की। लालू यादव के दोनों बेटे तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव भी सड़कों पर उतरे। उधर वैशाली में जाम लगा रहे आरजेडी कार्यकर्ताओं ने एक एम्बुलेंस को पटना नहीं आने दिया, इससे एक महिला मरीज की मौत हो गई।

गोपालगंज के घायलों की एम्बुलेंस भी जाम में फंसी

- सड़क जाम कर रहे आरजेडी कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह सड़कों पर जाम लगा दिया।

- हाजीपुर को पटना से जोड़ने वाले गांधी सेतु पर से कोई गाड़ी नहीं गुजरने दी गई।
- गोपालगंज चीनी मिल हादसे के घायलों को ला रही एम्बुलेंस गांधी सेतु पर लगे जाम में फंस गई।
- वैशाली जिले के महनार से पटना आ रही एक एम्बुलेंस को बंद समर्थकों ने रोक दिया गया, जिससे उसमें सवार महिला मरीज की मौत हो गई।

ट्रेनें रोकी गईं, पटरियों पर की आगजनी
शेखपुरा- यहां पर गया-किउल पैसेंजर ट्रेन को बंद समर्थकों ने स्टेशन पर रोक दिया।
जहानाबाद- बंद समर्थकों ने पटना-रांची जनशताब्दी ट्रेन को रोक दिया। पटरियों पर आगजनी की गई।
आरा-पीरो में आरा-सासाराम स्टेट हाईवे पर जाम लगा दिया गया। आरा में धरहरा पुल और कोईलवर पुल को भी जाम कर दिया।

नीतीश सरकार ने अवैध खनन पर लगाई है रोक
- बिहार में गंगा और दूसरी नदियों से बालू का अवैध खनन किया जा रहा था। नीतीश सरकार ने इस पर रोक लगा है। आरजेडी इसका विरोध कर रही है। इसी के तहत आरजेडी ने राज्य में बंद का एलान किया था।
- आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे ने कहा है, "सरकार की बालू पॉलिसी साफ नहीं है, हमारा विरोध जारी रहेगा।"

सिख श्रद्धालुओं को नहीं रोका जाएगा
- पटना में इन दिनों प्रकाश पर्व की तैयारी चल रही है। इसके लिए सिख श्रद्धालु पटना पहुंचने लगे हैं। आरजेडी ने इस बंद को बिहार को बदनाम करने की साजिश बताया था। इसके बाद लालू ने कहा कि सिख श्रद्धालुओं को बंद से राहत दी जाएगी। पटना सिटी और बाइपास को बंद से दूर रखा जाएगा और सिख श्रद्धालुओं की गाड़ियों को नहीं रोका जाएगा।