--Advertisement--

खिलाड़ी वाले

खिलाड़ी वाले

Dainik Bhaskar

Feb 05, 2018, 09:52 AM IST
Sabotage in hospital in chhapra

छपरा। बिहार के छपरा में मंगलवार शाम को एक अजीबोगरीब घटना हुई। करंट लगने से झुलसे युवक को लोगों ने सदर अस्पताल में भर्ती कराने लाया। डाक्टरों ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। परिजन घर ले गए तो वह जिंदा निकला। उसने दूध पिया। परिवार वाले पुन: अस्पताल लेकर आये। वहां फिर से युवक की मौत हो गई।

मृत बताया तो भड़क गए लोग
डॉक्टर ने जांच की तो युवक मृत मिला। इस पर लोग भड़क गए और डॉक्टरों व कर्मियों की पिटाई कर दी। घंटों तोड़फोड़ की। इस घटना के बाद डॉक्टर हड़ताल पर चले गए।

जानकारी के अनुसार मंगलवार शाम को सदर अस्पताल में एक मरीज के परिजनों ने उत्पात मचाया और तोड़फोड़ किया, जिससे हॉस्पिटल की लाखों की संपत्ति को नुकसान पहुंचा है। भगवान बाजार थाना क्षेत्र के नई बाजार मुहल्ले के स्व वकील मियां के 18 वर्षीय बेटे शहाबुद्दीन को बिजली का झटका लगा था, उसे इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया।

अस्पताल पहुंचने पर डॉक्टर ने शहाबुद्दीन को मृत घोषित कर दिया, लेकिन परिजन यह मानने को तैयार न थे। परिजन उसे जीवित मानकर जबरन इलाज करने का दबाव बनाने लगे। डॉ सुरेन्द्र महतो ने काफी समझाने का प्रयास किया, लेकिन परिजन हंगामा करने लगे और मारपीट शुरू कर दिया। बीच-बचाव करने वाले कर्मचारियों के साथ भी मारपीट की गई। हॉस्पिटल के खिड़की दरवाजे के शीशे तोड़ दिए गए। फ्रीज, टीवी अलमीरा को नष्ट कर दिया गया। बोर्ड नोच डाला। कर्मचारियों व मरीजों में भगदड़ मच गई। किसी ने पुलिस को सूचना दी।

मौके पर भगवान बाजार थाना के थानाध्यक्ष पुलिस के जवानों के साथ पहुंचे। पुलिस के पहुंचने के पहले ही तोड़फोड़ करने वाले फरार हो गए थे। घटना की सूचना पाकर सिविल सर्जन डॉ ललित मोहन प्रसाद भी पहुंचे और घटना की जानकारी ली। उन्होंने बताया कि एक मृत व्यक्ति को लेकर लोग आए थे और उसे जीवित मान कर इलाज कराने के लिए जबरन दबाव बना रहे थे। तोड़फोड़ हंगामा करने वालों की संख्या एक सौ से अधिक थी।

X
Sabotage in hospital in chhapra
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..