--Advertisement--

मंगलवार मंगलवार

मंगलवार मंगलवार

Danik Bhaskar | Jan 24, 2018, 10:56 AM IST
राज्यपाल सत्यपाल मलिक को ज्ञा राज्यपाल सत्यपाल मलिक को ज्ञा

पटना. चारा घोटाला के तीसरे केस में आज कोर्ट लालू यादव को सजा सुना सकती है। इसके चलते आरजेडी के कई बड़े नेता रांची में हैं। वहीं, लालू यादव के छोटे बेटे और पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव बुधवार को राज्यपाल सत्यपाल मलिक से मिलने पहुंचे। राज्यपाल से मिलकर तेजस्वी ने बिगड़ती कानून व्यवस्था और दलितों के खिलाफ हो रहे अत्याचार के मामले में बिहार सरकार की विफलता की बात की। तेजस्वी ने राज्यपाल को ज्ञापन सौंपकर नीतीश सरकार को बर्खास्त करने की मांग की।

लोकसभा के साथ विधानसभा का चुनाव कराने की हो रही तैयारी
राज्यपाल से मिलने के बाद तेजस्वी ने कहा कि बीजेपी और नीतीश कुमार ने लालू यादव को केस में फंसाया। बिहार का एक-एक आदमी कह रहा है कि लालू को जबरदस्ती फंसाया गया। बीजेपी लोकसभा चुनाव के साथ बिहार में विधानसभा का चुनाव कराने की प्लानिंग कर रही है। इसी के चलते आरएसएस के लोग बिहार आ रहे हैं। मोहन भागवत बिहार में घूम रहे हैं। बीजेपी और नीतीश लगे हैं कि दिसंबर 2018 तक चुनाव कराया जाए। बिहार की जनता सब देख रही है। जनता में आक्रोश है। कोर्ट का फैसला सबको मानना होगा। हमारे पास विकल्प है। हम उच्च न्यायालय के पास जाएंगे।

तेजस्वी ने कहा कि सृजन घोटाला में सरकारी खजाने से 1800 करोड़ रुपए निकाले गए। इसमें सीबीआई क्यों नहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी को आरोपी बनाती है। सृजन घोटाला इन्हीं के कार्यकाल के दौरान हुआ। जो भी एनजीओ हैं सब नीतीश के कार्यकाल में बने और सरकार को लूटा। सृजन मामले में बीजेपी के कई नेताओं के नाम आ रहे हैं।