--Advertisement--

सचिव सचिव

सचिव सचिव

Danik Bhaskar | Mar 12, 2018, 12:24 PM IST

पटना. राज्य सरकार के किसी पुल पर टोल टैक्स नहीं लगेगा। पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव ने सोमवार को विधानसभा में इसकी घोषणा की। उन्होंने कहा कि इस समय 116 पुलों पर टॉल टैक्स देना पड़ता है। पहली अप्रैल से नयी व्यवस्था लागू हो जाएगी। मंत्री विभाग के बजट पर सरकार का पक्ष रखे रहे थे। उन्होंने बताया कि अगले वर्ष से सूबे में मुख्यमंत्री सेतु योजना फिर से शुरु हो जाएगी। इसके लिए मुख्यमंत्री से बात हुई है। फिलहाल यह योजना बंद है।

मंत्री ने कहा कि सभी महत्वपूर्ण शहरों से बाईपास सड़कों का निर्माण होगा ताकि यातायात व्यवस्था सुगम हो सके। साथ ही शहरों पर ट्रैफिक का दबाव भी कम होगा। दूर जाने वाले लोग अनावश्यक रूप से बीच वाले शहरों में प्रवेश नहीं करेंगे। अपने गंतव्य तक जाने में उन्हें कम समय लगेगा। उन्होंने कहा कि सूबे के सभी प्रखंडों को जिला मुख्यालय से पक्की सड़क से जोड़ा जाएगा। इसी तरह सभी अनुमंडलों को टू लेन सड़क से जोड़ने की योजना है।

यादव ने कहा कि राज्य सरकार पूरे प्रदेश में सड़कों का जाल बिछाने की योजना पर काम कर रही है। पहले छह घंटे में किसी हिस्से से पटना पहुंचने का लक्ष्य था। अब हमने तय किया है कि किसी हिस्से से राजधानी पटना अधिक से अधिक पांच घंटे में पहुंच सकें। इसके लिए हमें सड़कों के साथ-साथ पुलों के निर्माण पर काम करना है। सूबे की महत्वपूर्ण 6 नदियों पर मात्र 16 पुल थे। पर, अगले पांच सालों में इन नदियों पर 52 पुल हो जाएंगे।

इनमें मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री के स्पेशल पैकेज पर लोग सवाल उठाते हैं कि क्या हो रहा है। उन्हें जानकारी नहीं है। इस समय सिर्फ सड़क सेक्टर में ही 54 हजार करोड़ की 82 योजनाओं पर काम हो रहा है। इसी के तहत गांधी सेतु के पूर्ण जीर्णोद्धार का काम भी शुरू हो चुका है।