Hindi News »Bihar »Patna» Attack On CM Nitish Kumar Convoy In Buxar, Escapes Safely In Stone Throwing

बक्सर में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर पथराव, दर्जनभर गाड़ियों के शीशे टूटे

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर शुक्रवार को गुस्साए गांववालों ने हमला कर दिया।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 13, 2018, 05:21 AM IST

    • सीएम के काफिले के साथ चल रही गाड़ी पर ईंट फेंकती महिला।

      बक्सर/डुमरांव (बिहार).नीतीश कुमार को एक बार फिर बक्सर जिले में आक्रोश झेलना पड़ा। शुक्रवार को विकास समीक्षा यात्रा के दौरान नंदन गांव पहुंचे मुख्यमंत्री के काफिले पर ग्रामीणों ने अचानक हमला कर दिया। इस दौरान ग्रामीणों ने ईंट-पत्थर से उनके वाहन सहित काफिले में शामिल वाहनों पर जमकर पथराव किया। इस दौरान मुख्यमंत्री घायल होने से बाल -बाल बच गए। पथराव की इस घटना से गांव में भगदड़ की स्थिति उत्पन्न हो गई।

      पुलिस ने की हवाई फायरिंग

      - गांववालों के हमले में डुमरांव थानाध्यक्ष सुबोध कुमार समेत कई अधिकारी व जवान जख्मी हो गए। पुलिस कर्मियों को जख्मी होते देख एसपी राकेश कुमार ने खुद कमान संभाली तब तक काफी देर हो चुकी थी।

      - बचाव के लिए पुलिस को लाठियां भांजनी पड़ी। जिसमें कई गांववाले भी जख्मी हो गए। सीएम के कार पर हमला होते देख पुलिस ने हवाई फायरिंग भी की।

      - एक-एक कर पुलिस वाले घायल हो रहे थे और सीएम का काफिला आगे बढ़ते जा रहा था। पथराव में मुख्यमंत्री के काफिले में चल रहे आलाधिकारियों तथा मंत्रियों के वाहन के शीशे भी टूटे हैं।

      - पथराव शांत होते ही आनन-फानन में घायल जवानों का प्राथमिक इलाज डुमरांव अनुमंडलीय अस्पताल तथा सीएम के काफिले में शामिल एंबुलेंस में कराया गया। इसके बाद बेहतर इलाज के लिए सभी को रेफर कर दिया गया।

      काफिला न रुकते देख चलने लगे ईंट-पत्थर

      - सीएम नीतीश कुमार का काफिला गांव से निकल रहा था तभी गांव के मुख्य निकास द्वार से करीब 20 मीटर अंदर अचानक कुछ लोग मुख्यमंत्री का काफिला रुकवाने लगे। इनमें महिलाएं अधिक आक्रोशित थी।

      - आक्रोश को देखते हुए मौके पर तैनात सुरक्षा गार्ड और अधिकारियों ने काफिले को नहीं रोकने का मन बनाया। जिसके बाद काफिले में शामिल गाड़ियां आगे बढ़ने लगीं। जब काफिला नहीं रुका तो महिलाओं का आक्रोश बढ़ने लगा। जैसे ही सीएम की गाड़ी उक्त स्थल पर पहुंची महिलाओं ने पथराव शुरू कर दिया।

      डीएम और एसपी को भी आई चोट

      घटना में डुमरांव थानाध्यक्ष सुबोध कुमार के अलावा संतोष कुमार, देवान तिवारी, राणा प्रताप सिंह, जीके मिश्र व तेज नारायण सिंह आदि जवान भी घायल हुए है। इस घटना में जेडीयू के वरीय नेता सहित एसपी व डीएम को भी हल्की चोटें आयी हैं। घटना स्थल पर वाहनों के फूटे शीशे तथा सड़क पर पड़े ईंट के टुकड़े इस बात की तस्दीक कर रहे थे कि पथराव में सीएम के काफिले को काफी नुकसान पहुंचा है।

      2012 में भी हो चुका है पथराव

      बिजली और पानी की किल्लत को लेकर बक्सर के चौसा बाजार में गुस्साये लोगों ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर जमकर पथराव किया था। इस पथराव में मुख्यमंत्री के काफिले की 6 गाड़ियां क्षतिग्रस्‍त हो गईं थी। हालांकि, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सुरक्षित थे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 2012 में 23 मई को अपनी सेवा यात्रा पर निकले थे। उनके सेवा यात्रा का पहला दिन था।

      आईबी ने दिया था इनपुट आक्रोश को हल्के में लेना पड़ गया भारी

      नंदन में सीएम के काफिले पर हुआ हमला अचानक नहीं था, बल्कि इसकी आग पिछले कई दिनों से सुलग रही थी। गांव के कई वार्डों में विकास को लेकर पहले से ही भेदभाव का आरोप ग्रामीण लगा रहे थे। खासकर महादलित टोले में विकास का सूरज नहीं उग पाया था। इसको लेकर बस्ती वालों में गहरा आक्रोश था। इसकी खुफिया इनपुट राज्य मुख्यालय को आईबी ने दी थी। राज्य मुख्यालय के बार-बार निर्देश के बावजूद जिले के आलाधिकारी निश्चिंत रहे। प्रशासन समय रहते इस आक्रोश को नहीं समझ सका। महादलित टोले के लोगों को उम्मीद थी कि मुख्यमंत्री के उनके गांव में आने से उनके टोले की सूरत बदलेगी।

      पहले से तैयार हो रही थी विरोध की पृष्ठभूमि

      नंदन गांव में मुख्यमंत्री की यात्रा के विरोध की पृष्ठभूमि पिछले कुछ दिनों से तैयार हो रही थी। ग्रामीणों को बार-बार नली गली के निर्माण तथा बिजली आपूर्ति के नाम पर भड़काया जा रहा था। कई बार इसे मीडिया ने भी सुर्खियां बनाई। लेकिन स्थानीय प्रशासन ने इसे नजरअंदाज कर दिया। बताया जा रहा है कि जिले के सभी पंचायतों के सिर्फ दो वार्ड का चयन ही सात निश्चय योजनाओं के प्रथम फेज में हुआ है। लेकिन नंदन में राजनीतिक विरोधियों द्वारा जानबूझकर इस बात को हवा दिया गया कि विकास में भेदभाव हो रहा है। ताकि भोलेभाले ग्रामीण इसे अपने साथ नाइंसाफी समझें। यही कारण है कि ग्रामीण मुख्यमंत्री के काफिले पर हमला करने के लिए रणनीति के तहत तैयार हो गए।

      दलितों और महिलाओें को बनाया गया मोहरा

      मुख्यमंत्री के काफिले पर हमला कराने की साजिश करने वालों ने इतनी सफाई से इस घटना को अंजाम दिया है कि हमले में शामिल होने वालों को भी भनक नहीं लगी है। जिस दलित तथा महिला वर्ग के विकास के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कई योजनाएं चला रहे है तथा धरातल पर उतारने के लिए प्रशासन को नाको चने चबाने पड़ रहे हैं। नंदन में उसी दलित वर्ग तथा महिलाओं को मोहरा बना सफेदपोश द्वारा मुख्यमंत्री के काफिले पर हमले की साजिश रची गई।

      सीएम की सुरक्षा पर खड़े होते सवालिया निशान

      - इतनी मात्रा में ईंट कहा से आये। पुलिस की क्यों नहीं पड़ी नजर
      - पूर्व में लगातार विरोध की आवाज उठ रही थी। फिर भी पुलिस कर्मी कम संख्या में क्यों तैनात किये गए
      - मौजूद पुलिस कर्मी सीएम के काफिले की ओर मुंह कर खड़े थे। जबकि पुलिस कर्मियों को आम जनता की ओर मुंह कर खड़ा होना चाहिए था। यदि पुलिस कर्मी नियमानुसार खड़े होते तो उपद्रवियो को पकड़ लेते।
      - हेलमेट धारी नहीं थे पुलिस कर्मी। यदि सुरक्षा की कमी से हादसा बढ़ता तो क्या होता।

      उकसावे और बहकावे में हुआ है हमला, होगी जांच

      काफिले पर की गई रोड़ेबाजी पर चिंता प्रकट करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इस पूरी घटना की जांच होगी। कुछ लोगों को जो उकसावे और बहकावे की राजनीति में जुटे हैं। उन्हें परेशानी होती है जिसकी हमें कोई परवाह नहीं। हम लोगों का स्पष्ट तौर पर निर्देश है और हर पंचायत में सात निश्चय के तहत निर्धारित विकास के काम होने हैं।

    • बक्सर में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर पथराव, दर्जनभर गाड़ियों के शीशे टूटे
      +4और स्लाइड देखें
      बक्सर की नंदन पंचायत में विकास कार्य की समीक्षा करते नीतीश कुमार।
    • बक्सर में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर पथराव, दर्जनभर गाड़ियों के शीशे टूटे
      +4और स्लाइड देखें
      गांववालों के के पथराव के दौरान निकलता सीएम का काफिला।
    • बक्सर में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर पथराव, दर्जनभर गाड़ियों के शीशे टूटे
      +4और स्लाइड देखें
      सीएम के काफिले पर पथराव के बाद अफरातफरी मच गई।
    • बक्सर में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर पथराव, दर्जनभर गाड़ियों के शीशे टूटे
      +4और स्लाइड देखें
      पथराव में एसओ समेत 10 पुलिसकर्मी जख्मी हुए।
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    India Result 2018: Check BSEB 10th Result, BSEB 12th Result, RBSE 10th Result, RBSE 12th Result, UK Board 10th Result, UK Board 12th Result, JAC 10th Result, JAC 12th Result, CBSE 10th Result, CBSE 12th Result, Maharashtra Board SSC Result and Maharashtra Board HSC Result Online

    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Patna News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: Attack On CM Nitish Kumar Convoy In Buxar, Escapes Safely In Stone Throwing
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    More From Patna

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×