--Advertisement--

किया

किया

Dainik Bhaskar

Dec 15, 2017, 10:49 AM IST
Widow sister in law ready for marriage with levir due to a compulsion

गया. बिहार के गया जिले के परैया में रहने वाली रूबी देवी की आंखें अब सूनी हो गईं हैं। दो बच्चों की मां रूबी देवी 15 साल के अपने देवर महादेव को बेटे जैसा प्यार देती थी, लेकिन एक मजबूरी के चलते उससे शादी को तैयार हो गई। वहीं, महादेव भी भाभी को मां समान मानता था। उसे यह शादी मंजूर न थी। शादी के चार घंटे बाद ही उसने आत्महत्या कर ली। रूबी के पहले पति सतीश दास की मौत चार साल पहले हो गई थी। 12 दिसंबर को वह सुहागन बनी, लेकिन चार घंटे बाद ही उसकी मांग का सिंदूर उजड़ गया। रूबी अपने देवर से इसलिए शादी को तैयार हो गई थी ताकि घर में उसकी जगह बनी रहे। उसके सिर से छत न छीन लिया जाए। मां की मौत के बाद भाभी रखती थी ख्याल...

- महादेव जब सात साल का था तब उसके सबसे बड़े भाई सतीश की शादी हुई थी। कुछ साल पहले महादेव की मां की मौत हो गई। मां की मौत के बाद बड़ी भाभी रूबी ही महादेव का ख्याल रखने लगी।
- रूबी के मायके के लोग उसकी दुबारा शादी कराना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने महादेव के पिता चंद्रशेखर दास पर 80 हजार रुपए देने का प्रेशर बनाया था। परिजनों की मांग थी कि या तो महादेव के पिता 80 हजार रुपए दें या अपने बेटे से रूबी की शादी कराएं।
- पंचायत में चंद्रशेखर 80 हजार रुपए देने की जगह अपने बेटे से बहू की शादी कराने को तैयार हो गया।

आगे की स्लाइड्स में पढ़ें- महिला ने बताया- आखिर वो कौन सी मजबूरी थी...

X
Widow sister in law ready for marriage with levir due to a compulsion
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..