Hindi News »Bihar »Patna» World Karate Champion Of Austria Give Training For Self Defense

थाना की

थाना की

Rajesh Ojha | Last Modified - Dec 11, 2017, 06:02 PM IST

गया.लड़कियां किसी भी मायने में लड़कों से कम नहीं और खतरा होने पर वे अपनी रक्षा कर सकती है। कराटे में 68 किलो वर्ग में 2016 की वर्ल्ड चैंपियन शलिशपुकिनिया 6 दिसंबर से उन्हें इस बात की शिक्षा दे रहीं हैं। 25 साल की शलिशपुकिनिया ऑस्ट्रेलिया की रहने वाली हैं। वह बोधगया में बुद्धा एजुकेशनल फाउंडेशन की छात्राओं को सेल्फ डिफेंस के लिए कराटे की ट्रेनिंग दे रहीं है। फ्री में दी जा रही इस ट्रेनिंग का मकसद लड़कियों में आत्मविश्वास जगाना और उन्हें अपनी रक्षा करने लायक ताकतवर बनाना है। रोज 2 घंटे तक चलती है क्लास...

-शलिशपुकिनिया ने कहा कि मैं ऑस्ट्रिया की हूं। मैं 2016 में कराटे में वर्ल्ड चैंपियन बनी थी। मैं यहां बच्चों को एक सप्ताह तक कराटे सिखाने आई हूं।
- मैं बच्चियों को सिखाती हूं कि एक महिला भी कैसे खुद को मजबूत बना सकती है। महिलाओं को पुरुषों से कमतर आंका जाता है। यह गलत है। मर्द और औरत को एक समान माना जाना चाहिए।
- मैं लड़कियों को आत्मविश्वासी बनना सिखाती हूं। मैं सिखाती हूं कि कैसे स्ट्रौग बना जाए। कैसे वह बिना किसी के डर से काम करने जा सकती हैं। मैं यहां रोज दो घंटे बच्चियों को कराटे सिखाती हूं।
- बुद्धा एजुकेशनल फाउंडेशन के सचिव प्रमोद कुमार मिश्रा ने बताया कि यहां वैसे बच्चे शिक्षा के साथ साथ सेल्फ डिफेंस के गुर सिख रहे हैं जिनका कोई नहीं है। वे काफी गरीब हैं।

India Result 2018: Check BSEB 10th Result, BSEB 12th Result, RBSE 10th Result, RBSE 12th Result, UK Board 10th Result, UK Board 12th Result, JAC 10th Result, JAC 12th Result, CBSE 10th Result, CBSE 12th Result, Maharashtra Board SSC Result and Maharashtra Board HSC Result Online
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Patna News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: austreliyaa se aaee lady garls ko de rhi aisi treninga, khtraa hone par kaise bchen
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×