--Advertisement--

मिलते ही

मिलते ही

Dainik Bhaskar

Jan 06, 2018, 10:29 AM IST
लालू यादव के पैतृक गांव में मं लालू यादव के पैतृक गांव में मं

गोपालगंज. रांची सीबीआई की स्पेशल कोर्ट शनिवार को लालू यादव को साढ़े तीन साल की सजा सुनाई है। जज ने 5 लाख रु. जुर्माना भी लगाया है। बता दें, सजा से पहले लालू के गोपालगंज जिले के फुलवरिया गांव में परिवार के लोगों ने मंदिर में पूजा और हवन किया। सभी ने दुर्गा मां से लालू की रिहाई की कामना की। गांव में इस दुर्गा मंदिर का निर्माण लालू यादव ने 2007 में कराया था। लालू जब भी गांव जाते हैं तो इस मंदिर में जरूर पूजा करते हैं। साढ़े 11 बजे से शुरू हुई पूजा...

- बताया जा रहा है कि लालू के पैतृक गांव फुलवरिया में उनके दोनों भतीजे और गांव के लोगों 11:30 बजे पंच मंदिर पहुंचे।
- 45 मिनट तक सभी ने मंदिर में पूजा की और उसके बाद हवन किया। सभी ने कामना की कि लालू यादव जेल से रिहा हो जाएं। पुजारी दयाशंकर पांडेय और हिरामन दास ने पूजा कराया।
- 23 दिसंबर को भी लालू के भतीजे मुन्ना कुमार यादव, मिथिलेश कुमार यादव समेत परिवार के कई लोग रिहा करने के लिए पूजा की थी।

X
लालू यादव के पैतृक गांव में मंलालू यादव के पैतृक गांव में मं
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..