--Advertisement--

पटना

पटना

Danik Bhaskar | Nov 24, 2017, 09:38 AM IST

पटना. विधानसभा में चलते सत्र में जितने भी सवाल सदस्य पूछेंगे या उठाएंगे, उनका जवाब सुनिश्चित होगा। विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी ने यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इस समय बड़ी संख्या में सदस्यों के सवाल बिना जवाब के ही रह जाते हैं। अर्थात वे सवाल पूछे तो जाते हैं, लेकिन उनका जवाब सुनिश्चित नहीं हो पाता। अब हम इसके लिए पहल कर रहे हैं कि सारे सवालों के जवाब हों। यदि चलते सत्र में वे नहीं पाएं तो उनके जवाब विभागों से लेकर सदस्यों तक पहुंचाई जाए। इसके लिए राज्य सरकार से बात की गई है।

स्पीकर शुक्रवार को प्रेस सलाहकार समिति के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होंने बताया कि इस समय ध्यानाकर्षण, अल्पसूचित और तारांकित सवालों के माध्यम से सदस्य सदन में जवाब मांगते हैं, लेकिन समय की कमी या फिर अन्य कारणों से सारे सवालों को जवाब नहीं हो पाता। खासकर अल्पसूचित व तारांकित सवालों की संख्या काफी होने के बावजूद उनमें से चार-पांच के ही जवाब सदन में हो पाते हैं। अन्य सवालों के जवाब आते हैं या नहीं, यह तय नहीं रहता। उनकी कड़ी मॉनिटरिंग नहीं हो पाती। ऐसे में हमने तय किया है कि उन सारे सवालों का जवाब सरकार से अवश्य ली जाए और उन्हें संबंधित सदस्यों को उपलब्ध करायी जाए।

चौधरी ने विधानपरिषद द्वारा सालों भर जनहित के मुद्दे उठाने के निर्णय को अच्छी पहल बताया और कहा कि उन्होंने मौजूदा प्रावधान के तहत इसका निर्णय लिया है। यह उचित है। हम पहले सदन के अंदर आने वाले सवालों के जवाब हो सकें, इसपर गंभीरता से काम कर रहे हैं। इसका कड़ाई से अनुपालन करने के बाद आगे विचार करेंगे। इस समय तो आए सवालों का ही जवाब नहीं हो पाता है। चौधरी ने सत्र के संचालन में मीडिया से सकारात्मक सहयोग मांगा और कहा कि इसके लिए आसन उन्हें हर सहयोग को तैयार है।