Hindi News »Bihar »Patna» Education Day Celebration

होगी होगी

होगी होगी

Vivek Kumar | Last Modified - Nov 08, 2017, 05:46 PM IST

पटना. देश के प्रथम शिक्षा मंत्री डॉ. अबुल कलाम आजाद के जन्म दिन 11 नवंबर को राज्य का शिक्षा दिवस आयोजन श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में होगा। इस वर्ष पहली बार यह आयोजन मात्र एक ही दिन का होगा। पिछले वर्ष एसकेएम के साथ ही एएन सिन्हा इंस्टीट्यूट और एससीईआरटी में दो दिनों का आयोजन हुआ था।
शिक्षा विभाग के अधिकारी के अनुसार इस वर्ष शिक्षा दिवस कार्यक्रम में राज्य भर से बच्चों को नहीं बुलाया जाएगा, बल्कि पटना जिले के ही बच्चे शामिल होंगे। आयोजन की जिम्मेदारी राज्य माध्यमिक शिक्षा परिषद संभाल रही है। सभी जिलों में शिक्षा दिवस आयोजन का निर्देश विभाग ने जिला शिक्षा पदाधिकारियों को दिया है।
बिहार में पहली बार 2009 को शिक्षा दिवस का आयोजन गांधी मैदान में 11 नवंबर से तीन दिनों का अयोजित किया गया था। मुख्यमंत्री ने उद्घाटन किया था, जबकि राज्यपाल ने कार्यक्रम का समापन किया था। इसके बाद भी बड़े पैमाने पर गांधी मैदान में शिक्षा दिवस का आयोजन होता था। इसमें शिक्षा से जुड़े विभिन्न स्टॉल लगाये जाते थे। बाद में कभी तीन दिन और कभी दो दिन आयोजन होता रहा था।
भौतिकी के विद्धान प्रो. हरिश्चंद्र वर्मा को 2017 के लिए मौलाना अबुल कलाम आजाद शिक्षा पुरस्कार दिया जाएगा। चार सदस्यीय कमेटी ने 14 लोगों में से एचसी वर्मा का चयन राज्य के सर्वोच्च शिक्षा पुरस्कार के लिए किया है। शनिवार को शिक्षा दिवस समारोह में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार उन्हें पुरस्कार देंगे। 2.5 लाख रुपए के साथ ही प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा। चयन समिति के अध्यक्ष सचिव राबर्ट एल चोंगथू थे। सदस्य सचिव जन शिक्षा निदेशक विनोदानंद झा, सदस्य बीईपी निदेशक संजय सिंह और अपर सचिव मनोज कुमार शामिल हैं।
प्रो. वर्मा दरभंगा के मूल निवासी हैं। वर्तमान में कानपुर में रहते हैं। पटना साइंस कॉलेज में 1980 से 1994 तक छात्रों भौतिकी पढ़ाया। इसके बाद आईआईटी कानपुर में प्रोफेसर रहे और सेवानिवृत्ति के बाद गरीब बच्चों को शिक्षा देते रहे। 2009 से शिक्षा विभाग 2 लाख का मौलाना आजाद शिक्षा पुरस्कार देता रहा है। इस साल यह राशि ढाई लाख की दी गई है।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×