--Advertisement--

भगवान

भगवान

Danik Bhaskar | Nov 27, 2017, 03:16 PM IST

पटना. आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय का चौथा दीक्षांत समारोह बुधवार को आयोजित किया गया। गांधी मैदान के पास स्थित बापू सभागार में बुधवार को आयोजित इस समारोह में 4508 छात्र-छात्राओं को डिग्री दी गई। इनमें से 14 छात्र-छात्राओं को गोल्ड मेडल दिए गए।

समारोह के मुख्य अतिथि कुलाधिपति सह राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने इस मौके पर छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय शिक्षा के क्षेत्र में बहुत ही अच्छा काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि मुल्क पुलों कारखानों से नहीं बनता, मुल्क विद्वानों से बनता है। ज्ञान विज्ञान के बिना कुछ भी चलनेवाला नहीं है। मनुष्य का इतिहास 6 हजार सालों का है, लेकिन पिछले 50 सालों में जितनी तरक्करी हुई वह पहले कभी नहीं हुई।

उन्होंने कहा कि तरक्की उसको मिलेगी जो लेना चाहेगा। नौजवानों में जबरदस्त प्रतिभा है, आपको आगे बढ़ने के लिए मेहनत करनी होगी। उन्होंने कहा कि बिहार के बच्चे जेएनयू, दिल्ली सहित सभी जगहों पर अच्छे हैं, बिहार में ही वे थोड़ा पीछे हो जा रहे हैं। अभी इस दीक्षांत समारोह में भी 14 में से 9 छात्राएं हैं। यह खुशी की बात है, छात्राएं हर शिक्षा से लेकर खेल तक में अच्छा कर रही हैं। नौजवानों को मेहनत करना चाहिए।

राज्यपाल ने कहा कि शिक्षा से ज्यादा सशक्तीकरण अन्य कोई भी चीज नहीं ला सकती, जमीन जायदाद, दौलत आपको सशक्त नहीं कर सकता, लेकिन अगर आप शिक्षित हैं तो किसी भी पद पर जा सकते हैं। अमेरिका में कोंडालिजा राइस शिक्षा के बल परही फॉरेन सेक्रेटरी के पद पर थी। उन्होंने कहा कि दुनिया के सभ्य समाज जो भी आगे बढ़े हैं उन्होंने शिक्षा को महत्व दिया है।

उन्होंने कहा कि पुल, मकान फैक्ट्रियां फिर से बनाई जा सकती हैं, लेकिन शिक्षा से एक पीढ़ी वंचित रह गई तो उसे फिर से नहीं बनाया जा सकता। विश्वविद्यालय को उन्होंने आश्वस्त किया छात्रों के हित के लिए राजभवन से जो भी सहायता की जरूरत होगी उसे मुहैया कराया जाएगा।