Hindi News »Bihar »Patna» PMCH Junior Doctor Strike 10 Patients Death

भी रखा

भी रखा

Vivek Kumar | Last Modified - Nov 17, 2017, 09:54 AM IST

पटना. बिहार सरकार के स्वास्थ मंत्री मंगल पांडेय से वार्ता के बाद जूनियर डॉक्टरों ने हड़ताल खत्म कर दिया है। मंत्री ने कहा कि डॉक्टरों की सुरक्षा सरकार की जिम्मेदारी है। सरकार पीएमसीएच में सुरक्षा के इंतजाम की व्यवस्था करेगी। मंत्री से सुरक्षा संबंधी आश्वासन मिलने के बाद डॉक्टरों ने गुरुवार से चल रहा हड़ताल खत्म कर दिया। इस दौरान पीएमसीएच में 16 मरीजों की मौत हो गई।

क्या है जूनियर डॉक्टरों की मांग
- पीएमसीएच के जूनियर डॉक्टरों की सबसे प्रमुख मांग सुरक्षा है।
- डॉक्टरों का कहना है कि हॉस्पिटल में मौत होने पर परिजन हमारे साथ मारपीट करने लगते हैं।
हंगामा और मारपीट करने वालों पर एफआईआर दर्ज नहीं होता। वहीं, हम लोगों के खिलाफ केस कर दिया जाता है।
- हॉस्पिटल में सुरक्षा के मुकम्मल प्रबंध किए जाएं, जिससे हमलोग बिना किसी डर के काम कर सकें।

मरीज की मौत के बाद परिजनों ने की थी मारपीट
- पीएमसीएच की इमरजेंसी में गुरुवार को एक मरीज की मौत के बाद परिजनों ने जमकर हंगामा, तोड़फोड़ मारपीट की थी।
- इस घटना में हेल्थ मैनेजर, ट्रॉलीमैन और कुछ डॉक्टरों को चोट लगी थी, जिसके बाद जूनियर डॉक्टरों ने हड़ताल कर दिया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×