• Home
  • Bihar
  • Patna
  • The path of politics will change from campaign against social evils
--Advertisement--

वापस किया

वापस किया

Danik Bhaskar | Nov 25, 2017, 11:52 AM IST

पटना। प्रदेश जदयू के अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि बिहार दहेज प्रथा और बाल विवाह के खिलाफ उठ खड़ा हुआ है। जदयू द्वारा सामाजिक कुप्रथाओं के खिलाफ शुरू की गई मुहिम ना सिर्फ समाज बल्कि राजनीति की दशा और दिशा को भी बदल देगी।

जैसे शराबबंदी की पूरे देश में चर्चा मिली है, उसी तरह बालविवाह और दहेज प्रथा के खिलाफ भी हमारी इस मुहिम के साथ पूरा देश उठ खड़ा होगा। जदयू अध्यक्ष ने शनिवार को हार्डिंग रोड में आयोजित कार्यक्रम में दहेज प्रथा के खिलाफ डॉ.नीतू कुमारी नवगीत द्वारा गाए गए गीतों के संग्रह ‘बिटिया है अनमोल रतन’ का विमोचन किया। सीडी को जदयू उद्योग प्रकोष्ठ ने तैयार कराया है।

प्रदेश जदयू अध्यक्ष ने कहा कि चंपारण सत्याग्रह शताब्दी वर्ष में जदयू ने दहेज और बाल विवाह विरोधी अभियान को चलाया है। दहेज प्रथा और बाल विवाह के खिलाफ 21 जनवरी 2018 को पूरे बिहार में मानव श्रृंखला बनाई जाएगी। उद्योग प्रकोष्ठ को बिहार की छवि के विकास के लिए सुनियोजित ढंग से काम कर रहा है। जल्द ही मुम्बई में चर्चित बिहार की प्रतिभाओं को पटना में उद्योग प्रकोष्ठ द्वारा सम्मानित किया जाएगा।

विधान पार्षद प्रो. रणवीर नंदन ने कहा कि सामाजिक परिवर्तन की दिशा में शुरू हुई यह पहल कारगर साबित हो रही है। शराबबंदी से समाज में अमन, चैन कायम हुआ है और अब लोगों की आर्थिक स्थिति भी सुधरी है, चाहे गांव हो या फिर शहर, गरीबों के घर-आंगन में भी खुशहाली लौटी है। उद्योग सेल के प्रदेश अध्यक्ष संजय खंडेलिया ने कहा कि दहेज लेना व देना दोनों अभिशाप है इससे बचने के लिए समाज को जागरूक किया जाएगा।

जदयू की प्रदेश प्रवक्ता डॉ. सुहेली मेहता के कहा कि सामाजिक कुरीतियों का खात्मा करने के लिए हर किसी को संकल्प लेने की आवश्यकता है। इस मौके पर छात्र जदयू अध्यक्ष श्याम पटेल, प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष राजीव अग्रवाल, विकास कमलिया, अमृता सिंह, गुरविंदर पाल सिंह, अनूप अग्रवाल, विक्रम बंका, पल्लवी मिश्रा, सागरिका चौधरी, वसंत जैन, रीता राजपूत, सुनीता सिह, प्रदेश महासचिव बबलू मंडल, विक्रम यादव और अशोक कुमार वर्मा कई पदाधिकारी मौजूद थे।