पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

जदयू महासचिव आरसीपी सिंह बोले-कंफ्यूज नेता हैं चंद्रबाबू नायडू, विपक्ष अभी से रोने लगा ईवीएम का रोना

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • कहा-2014 में चंद्रबाबू को जब बहुमत मिला था तब नहीं दिखी थी ईवीएम में गड़बड़ी
  • आरसीपी सिंह ने कहा-बिहार में एनडीए की सभी 40 सीटों पर होगी जीत
Advertisement
Advertisement

पटना. जदयू के राष्ट्रीय महासचिव आरसीपी सिंह ने विपक्षी एकता के प्रयासों को नाटक करार दिया है। मंगलवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा आयोजित डिनर में दिल्ली जाने से पहले आरसीपी ने पटना एयरपोर्ट पर पत्रकारों से बातचीत में कहा कि विपक्षी एकता की हवा निकल गई है। महागठबंधन धराशायी हो चुका है। एनडीए तो स्पष्ट बहुमत मिल रहा है। इसलिए हमें किसी दूसरे की तरफ देखने की जरूरत भी नहीं है।

 

कंफ्यूज नेता हैं चंद्रबाबू नायडू
आरसीपी ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू को कंफ्यूज नेता बताते हुए कहा कि वे चाहे कुछ भी कर लें लेकिन विपक्ष की दाल नहीं गलने वाली है। इसीलिए मतगणना होने के पहले से ही ईवीएम का रोना रोया जाने लगा है। चंद्रबाबू को जब उन्हें 2014 के चुनाव में बहुमत मिला था तब ईवीएम ठीक था, अभी हाल में तीन राज्यों में कांग्रेस की सरकार बनी तब भी ईवीएम में गड़बड़ी नहीं दिखी। आज जब जमीन खिसक रही है तब ईवीएम के बहाने विपक्ष के राजनीतिक दल अपनी नाकामियों और नकारेपन को छुपाने का प्रयास कर रहे हैं।

 

सभी सीटों पर होगी एनडीए की जीत
जदयू महासचिव ने कहा कि एनडीए को स्पष्ट जनादेश मिलेगा और 300 से अधिक सीटों के साथ मजबूत सरकार जनता के आशीर्वाद से बनेगी। केंद्र और प्रदेश में एक सरकार रहेगी और बिहार का विकास मजबूती के साथ होगा। बिहार की जनता नरेंद्र मोदी, नीतीश कुमार और रामविलास पासवान के साथ मजबूती से खड़ी है। इसलिए बिहार की सभी 40 सीटों पर एनडीए की जीत होगी। दिल्ली में आयोजित भोज को आरसीपी ने सामान्य शिष्टाचार के नाते एक आयोजन बताया। उन्होंने कहा कि एनडीए के नेता एक साथ बैठकर चुनाव के अनुभवों तथा आगे की रणनीति पर विचार करेंगे।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज पिछले समय से आ रही कुछ पुरानी समस्याओं का निवारण होने से अपने आपको बहुत तनावमुक्त महसूस करेंगे। तथा नजदीकी रिश्तेदार व मित्रों के साथ सुखद समय व्यतीत होगा। घर के रखरखाव संबंधी योजनाओं पर भ...

और पढ़ें

Advertisement