• Hindi News
  • Bihar
  • Patna
  • Patna - chhath and 25 lakh pilgrims will be on the 79 ferries spread across 25 km from nasarganj to deirdarganj
--Advertisement--

नासरीगंज से दीदारगंज तक 25 किमी में फैले 79 घाटों पर होगा छठ, 25 लाख श्रद्धालुओं के पहुंचने के आसार

छठ पर्व को लेकर गंगा घाटों की तैयारी अब पूरी हो गई है। नासरीगंज से दीदारगंज तक 25 किलोमीटर की लंबाई में फैले 79 घाटों...

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 04:16 AM IST
Patna - chhath and 25 lakh pilgrims will be on the 79 ferries spread across 25 km from nasarganj to deirdarganj
छठ पर्व को लेकर गंगा घाटों की तैयारी अब पूरी हो गई है। नासरीगंज से दीदारगंज तक 25 किलोमीटर की लंबाई में फैले 79 घाटों पर अर्घ्य देने की व्यवस्था की गई है। इसबार करीब 25 लाख श्रद्धालुओं के आने की संभावना को देखते हुए तैयारी की गई है। पिछले साल 20 लाख से अधिक श्रद्धालु घाटों पर पहुंचे थे। छठ महापर्व को लेकर शनिवार को बापू सभागार में हुई ज्वाइंट ब्रीफिंग में यह जानकारी डीएम कुमार रवि ने दी। संचालन एडीएम सामान्य आशुतोष वर्मा ने किया। पटना के घाटों को 21 जोन में बांटकर 450 मजिस्ट्रेट, 536 पुलिस अधिकारी और 1200 पुलिस बल की तैनाती की गई है। इसके साथ ही एनडीआरएफ के 450 जवानों की प्रतिनियुक्ति की गई है। 70 बोट से लगातार निगरानी होगी। घाटों पर 315 गोताखोर भी मौजूद रहेंगे। सरकारी स्तर पर मॉनिटरिंग के लिए 185 नावों की व्यवस्था की गई है।

नाव परिचालन पर राेक, सुरक्षा के लिए पैट्रोलिंग

डीआईजी राजेश कुमार ने कहा कि छठ के अवसर पर नाव परिचालन पर रोक रहेगी। सभी एसडीपीओ भ्रमणशील रहेंगे और प्रतिनियुक्त पुलिस अधिकारियों व दंडाधिकारियों की उपस्थिति की भी जांच करेंगे। लोग अपने घर को बंद कर के घाटों पर आ जाते हैं। इसलिए घरों की सुरक्षा के लिए सभी थाना प्रभारी पैट्रोलिंग की व्यवस्था करेंगे। एसएसपी मनु महाराज ने कहा कि अफवाह फैलाने वालों और असामाजिक तत्वों की पहचान कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। प्रतिनियुक्ति के अलावा आवश्यकतानुसार पुलिस बल व अधिकारियों को उपलब्ध कराया जाएगा।

खतरनाक घाटों पर भी पुलिस बल की तैनाती

डीएम ने कहा कि घाटों पर एंबुलेंस के साथ मेडिकल टीम और बिजली विभाग के अधिकारियों की भी प्रतिनियुक्ति की गई है। 11 नवंबर से तैनाती शुरू हो जाएगी। 101 घाटों में से 22 को खतरनाक घोषित किया गया है। खतरनाक घाटों पर भी पुलिस बल और अधिकारियों की तैनाती रहेगी ताकि वहां कोई व्रती नहीं जा सके। डीएम ने कहा कि भीड़ नियंत्रण के लिए पब्लिक एड्रेस सिस्टम की व्यवस्था की गई है। छठ पूजा समिति के महिला-पुरुष वालंटियर को भी परिचयपत्र देकर घाटों पर तैनात किया जाएगा। किसी भी घाट पर चचरी पुल का निर्माण नहीं होगा।

वाटर टैंकर की रहेगी व्यवस्था

पहुंच पथों पर वाटर टैंकर रहेगा। दीघा पाटीपुल, बांसघाट, कलेक्ट्रेट व गायघाट पर वाटर एटीएम रहेगी। 314 अस्थायी शौचालय, 556 अस्थायी यूरिनल, 90 चापाकल, 609 अस्थायी चेंजिंग रूम, 10 यात्री शेड व 200 वाॅच टावर की व्यवस्था की गई है। घाटों पर पटाखा फोड़ने व बिक्री पर रोक रहेगी।

रिवर बीच का मजा लेना हो, तो चले जाइए कलेक्ट्रेट व महेंद्रू घाट

राकेश रंजन | पटना

छठ की पवित्रता के बीच अगर आप राजधानी में रिवर बीच का मजा लेना चाहते हैं, तो चले जाइए कलेक्ट्रेट घाट। गंगा मइया की अविरलता का अद‌्भुत नजारा आपको यहां दिखेगा। छठ पूजा के गीतों की मीठी धुन के बीच गंगा की बलखाती लहरें आपको अद्वितीय अनुभूति देगी।

कलेक्ट्रेट से महेंद्रू घाट तक दो किमी तक फैले इस रिवर बीच पर एक लाख से अधिक व्रतियों को अर्घ्य देने के लिए प्रशासन ने बेजोड़ व्यवस्था की है। रात में भी सूरज जैसी चमचमाती रोशनी हो, इसके लिए रास्ते से लेकर घाट तक हाई मेटल लाइट लगाई गई हैं। भीड़तंत्र को संभालने के लिए वाॅच टावर बने हैं। चेंजिंग रूम के साथ शौचालय और यूरिनल बनाए गए हैं, ताकि व्रतियों को कोई परेशानी न हो। पीने के पानी के लिए टंकी लगाया गया है और समुचित मात्रा में चापाकल भी गाड़े गए हैं। मतलब साफ है कि अगर रात में भी आप गंगा तट पर ही रुकना चाहते हैं, तो आपके लिए मुकम्मल व्यवस्था की गई है।

वाहन से भी जा सकेंगे कलेक्ट्रेट घाट, आधा किलोमीटर पहले पार्किंग की व्यवस्था

कलेक्ट्रेट घाट पर इस बार आप अपने वाहन से भी जा सकेंगे। गंगा तट से आधा किमी पहले गाड़ियों की पार्किंग की व्यवस्था की गई है। वाहन से जाने के लिए आपको बांस घाट के पास से प्रवेश करना होगा। यहां प्रवेश करते ही कच्ची सड़क से दाहिनी ओर मुड़कर सीधे कलेक्ट्रेट घाट पहुंच जाएंगे। यहां वाहन लगाने के बाद अाप थोड़ी दूर पैदल चलकर गंगा की लहरों तक पहुंच जाएंगे। अगर आप पैदल जाना चाहते हैं, तो गांधी मैदान के सामने कलेक्ट्रेट घाट और महेंद्रू घाट से प्रवेश करना होगा। कलेक्ट्रेट घाट और महेंद्रू घाट से कच्ची सड़क बनाई गई है, जो सीधे गंगा तट तक पहुंचती है। कलेक्ट्रेट घाट से प्रवेश करने पर आपको करीब एक किमी, तो महेंद्रू घाट से प्रवेश करने पर करीब अाधा किमी पैदल चलना होगा।

दीघा और पटना सिटी के दमराही घाट पर भी रिवर बीच-सा नजारा

सिर्फ कलेक्ट्रेट और महेंद्रू घाट पर ही नहीं दीघा से सटे 93 नंबर घाट और पटना सिटी के दमराही घाट पर भी आपको रिवर बीच सा नजारा देखने को मिलेगा। यहां भी प्रशासन ने पुख्ता तैयारी की है। घाट की लंबाई आधे से एक किमी तक है। साथ ही 30 से 40 फीट तक पानी की गहराई मात्र तीन से चार फीट ही है।

चार दिवसीय अनुष्ठान : आज नहाय-खाय, कल होगा खरना

सिटी रिपोर्टर | पटना

महापर्व छठ का चार दिवसीय अनुष्ठान रविवार से शुरू होगा। इसकी तैयारी में श्रद्धालु जुट गए हैं। रविवार को नहाय-खाय होगा। छठ व्रती नियम-संयम के साथ स्नान कर शुद्ध आहार लेंगे। मुख्य रूप से कद्दू की सब्जी, अरवा चावल का भात, चने की दाल, आंवले की चटनी, लौकी का बजका आदि ग्रहण करेंगे। व्रतियों के बाद श्रद्धालु भी नहाय-खाय का प्रसाद ग्रहण करेंगे। इसके अगले दिन सोमवार यानी 12 नवंबर को खरना होगा। 12 घंटे के निर्जला व्रत के बाद व्रती शाम में गुड़ की खीर और रोटी का प्रसाद ग्रहण करेंगे। इसके साथ ही 36 घंटे का निर्जला व्रत शुरू हो जाएगा। 13 नवंबर को सायंकालीन और 14 अक्टूबर को प्रात:कालीन अर्घ्य दिया जाएगा। शहर में पूजा सामग्री की दुकानें सज गई हैं। मिट्टी के चूल्हे, आम की लकड़ी, नारियल, सूप, दउरा आदि की बिक्री शुरू है।

बैरिकेडिंग का काम हो चुका है पूरा, लगातार की जा रही है पैट्रोलिंग

घाटों पर बैरिकेडिंग हो चुकी है। बांस के बल्लों पर लगे लाल और उजले झंडे लोगों को यह संकेत दे रहे हैं कि इससे आगे जाना आपके लिए खतरनाक होगा। किसी तरह का कोई हादसा नहीं हो, इसके लिए एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और प्रशासन की ओर से लगातार पेट्रोलिंग की जा रही है।

Patna - chhath and 25 lakh pilgrims will be on the 79 ferries spread across 25 km from nasarganj to deirdarganj
X
Patna - chhath and 25 lakh pilgrims will be on the 79 ferries spread across 25 km from nasarganj to deirdarganj
Patna - chhath and 25 lakh pilgrims will be on the 79 ferries spread across 25 km from nasarganj to deirdarganj
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..