पटना / मुख्यमंत्री ने की जल-जीवन-हरियाली अभियान की शुरुआत, कहा- जितना अधिक हो सके पेड़ लगाएं



chief minister nitish kumar Start of water life greenery campaign in patna
chief minister nitish kumar Start of water life greenery campaign in patna
X
chief minister nitish kumar Start of water life greenery campaign in patna
chief minister nitish kumar Start of water life greenery campaign in patna

  • सावन माह खत्म होने को है, लेकिन बिहार के कई जिलों में बारिश कम हुई
  • सरकार का लक्ष्य है कि इस साल कम से कम 1.5 करोड़ पेड़ लगे

Dainik Bhaskar

Aug 09, 2019, 03:18 PM IST

पटना. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को जल-जीवन-हरियाली के लिए जागरूकता अभियान की शुरुआत की। उन्होंने जलवायु परिवर्तन पर चिंता जताई। नीतीश ने कहा कि सावन माह खत्म होने को है, लेकिन बिहार के कई जिलों में बारिश कम हुई है। बादल आ रहे हैं, लेकिन दूर चले जा रहे हैं। बारिश नहीं हो रही है। पिछले 4-5 साल में बिजली गिरने से लोगों की मौत की संख्या बढ़ी है। पहले ऐसा नहीं होता था। यह सब जलवायु परिवर्तन के चलते हो रहा है। इसके साथ ही नीतीश ने लोगों से अधिक से अधिक पेड़ लगाने की अपील की।

 

सड़क से लेकर नहर तक पेड़ लगाएगी सरकार  
नीतीश ने कहा कि लोग सिर्फ पेड़ लगाने की अपील करने से पेड़ नहीं लगाएंगे। वे ऐसा तब करेंगे जब सरकार को ऐसा करते देखेंगे। हर सड़क के किनारे पेड़ लगाए जाएंगे। सड़क ऊंची हो तो पेड़ के दो या तीन कतार लग सकते हैं। इसी तरह जल संसाधन विभाग बांध और नहर के किनारे पेड़ लगाएगा। सरकारी भवन हो या कोई और जगह सरकार जितना अधिक हो सके पेड़ लगाएगी। इससे लोग अपने घर के आसपास और अपनी जमीन पर पेड़ लगाने को प्रोत्साहित होंगे। सरकार का लक्ष्य है कि इस साल कम से कम 1.5 करोड़ पेड़ लगे। 

 

बचाना होगा भूगर्भ जल
नीतीश ने कहा कि सिंचाई हो या पीने का पानी हम जमीन के अंदर मौजूद पानी पर निर्भर हैं। भूगर्भ जल स्तर लगातार गिरता जा रहा है। ऐसा ही चलता रहा तो एक दिन ऐसा आएगा जब जमीन के अंदर मौजूद पानी खत्म हो जाएगा। बिना पानी के जीवन संभव नहीं। हमें भूगर्भ जल को बचाना होगा। वर्षा का पानी यूं ही बेकार चला जाता है। वर्षा के पानी को जमीन के अंदर पहुंचाने के लिए वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाना होगा। सभी सरकारी भवन में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाया जा रहा है। लोग इससे प्रेरित होंगे और अपने घरों में लगाएंगे। इसके साथ ही जितने भी पोखर और आहर हैं उनकी खुदाई कराई जाएगी। अगर पोखर, आहर की जमीन पर कब्जा हो गया है तो उसे कब्जा मुक्त किया जाएगा।

 

हर सरकारी भवन पर लगेगा सोलर प्लांट
नीतीश ने कहा कि आज अधिकतर बिजली कोयले से बनाई जा रही है। कोयला जलाने से ग्लोवल वार्मिंग बढ़ती है। एक दिन ऐसा आएगा जब जमीन के अंदर मौजूद कोयला खत्म हो जाएगा। कोयला खत्म हो सकता है, लेकिन सूर्य हमेशा रहेगा। इसलिए हमें बिजली बनाने के लिए सोलर प्लांट लगाने की दिशा में काम करना चाहिए। लोग अपने घर के छत पर सोलर प्लांट लगा सकते हैं। अतिरिक्त बिजली ग्रीड को बेची जा सकती है। सरकार खुद इसके लिए पहल कर रही है। हर सरकारी भवन की छत पर सोलर प्लांट लगेगा, जिसे देख लोग अपने घरों में भी सोलर प्लांट लगाएंगे।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना