क्लर्क भर्ती घोटाला / परीक्षा नहीं देने वालों को भी पास करानेवाले सदानंद सिंह समेत 40 पर चार्जशीट



Clerk recruitment scam: Chargesheet on 40 including Sadanand Singh
X
Clerk recruitment scam: Chargesheet on 40 including Sadanand Singh

  • 2वीं विधानसभा के कार्यकाल के दौरान लिपिकों की भर्ती में उत्तर पुस्तिकाओं को बदलवाया गया
  • मामला साल 2011 का, इसकी प्राथमिकी 9 मई 2011 को दर्ज की गई थी

Dainik Bhaskar

Aug 15, 2019, 03:52 AM IST

पटना. बिहार विधानसभा सचिवालय में निम्नवर्गीय लिपिकों की नियुक्ति के मामले में निगरानी ब्यूरो ने बुधवार को तत्कालीन स्पीकर सदानंद सिंह समेत 40 लोगों के खिलाफ विशेष अदालत में आरोपपत्र दाखिल किया।

 

आरोपियों में सदानंद के अलावा तत्कालीन अवर सचिव बैजू प्रसाद सिंह, अवर सचिव रामेश्वर प्रसाद चौधरी, उपसचिव वशिष्ठ देव तिवारी, उपसचिव पुरुषोत्तम मिश्रा, उपसचिव अरुण कुमार यादव, आप्त सचिव सुबोध कुमार जायसवाल, आप्त सचिव कामेश्वर प्रसाद सिंह, उपसचिव राजकिशोर रावत और लाभार्थी लिपिक शामिल हैं। लाभार्थी लिपिकों में प्रेरणा कुमारी, अवधेश कुमार सिंह, संजय कुमार प्रथम, राकेश कुमार प्रथम, नवीन कुमार, सत्य नारायण, संजीव कुमार, नीरज आनंद, पंकज कुमार राय, देव कुमार, मनीष कुमार, संजीव कुमार, वसीम अहमद, राकेश सिंह, फिरोज अख्तर खां, रंजीत प्रसाद, राजीव कुमार सिंह शामिल हैं।


कॉपियां बदलीं, मनमाने ढंग से दिए गए नंबर 
चार्जशीट में कहा गया है कि 12वीं विधानसभा के कार्यकाल के दौरान लिपिकों की भर्ती में उत्तर पुस्तिकाओं को बदलवाया गया। मनमाने ढंग से अंक दिए गए। रिश्तेदार व मित्रों को बिना परीक्षा में बैठे चयनित कर नियुक्ति की गई थी। मामला वर्ष 2011 का है। इसकी प्राथमिकी 9 मई, 2011 को दर्ज की गई थी। निगरानी इस मामले में तत्कालीन विधानसभा सचिव सह परीक्षा समिति के अध्यक्ष झौरी पाल के खिलाफ 2016 में ही आरोपपत्र दाखिल कर चुकी है।
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना