चुनाव प्रचार / मुख्यमंत्री बोले- मांझी मेरे नहीं हुए, तो किसी के नहीं हो सकते



फतेहपुर में चुनावी सभा में लोगों का अभिवादन करते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार। फतेहपुर में चुनावी सभा में लोगों का अभिवादन करते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार।
X
फतेहपुर में चुनावी सभा में लोगों का अभिवादन करते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार।फतेहपुर में चुनावी सभा में लोगों का अभिवादन करते मुख्यमंत्री नीतीश कुमार।

  • कहा- मैंने मांझी को अपनी कुर्सी पर बैठाया, लेकिन वे मुझे ही नुकसान पहुंचाने लगे
  • सीएम का दावा- स्वयं सहायता समूह से जुड़कर एक करोड़ महिलाएं रोजगार कर रही हैं

Dainik Bhaskar

Apr 07, 2019, 03:13 AM IST

फतेहपुर/बाराचट्टी. लोकसभा चुनाव में गया लोकसभा क्षेत्र के एनडीए प्रत्याशी विजय कुमार मांझी के समर्थन में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को गया के फतेहपुर और बाराचट्टी में चुनावी सभाओं को संबोधित किया। सीएम ने कहा कि 13 साल पहले बिहार की क्या दुर्गति थी, किसी से छिपी नहीं है। इसे मैंने विकास और सुशासन के जरिए बेहतर बनाने का काम किया है। राज्य के विकास में कोई समझौता नहीं किया जाएगा। हमने समाज के हर वर्ग के लिए काम किया है। समाज के अंतिम घर तक विकास की रोशनी पहुंचेगी।

 

उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी पर तंज कसते हुए कहा कि मैंने उन्हें अपनी कुर्सी पर बैठाया, लेकिन वे मुझे ही नुकसान पहुंचाने का प्रयास करने लगे। तब उन्हें कुर्सी से हटा दिया। जब वे मेरा नहीं हुए तो किसी और का भी नहीं होंगे। सीएम नेे कहा कि बिहार में जो काम किया है उसकी मजदूरी मांगने आया हूं। एक जमाना था जब लड़कियां प्राथमिक विद्यालय से आगे नहीं पढ़ पाती थीं। पोशाक-साइकिल की योजना शुरू की गई। समूह में लड़कियां स्कूल जाने लगी।

 

सबसे ज्यादा महिला पुलिस बिहार में काम कर रही है

सीएम ने कहा कि स्वयं सहायता समूह से जुड़कर इस समय एक करोड़ महिलाएं रोजगार कर रही हैं। महिलाओं को हर क्षेत्र में आरक्षण दिया गया है। यही वजह है कि सबसे ज्यादा महिला पुलिस बिहार में काम कर रही है। सात निश्चय योजना के तहत पक्की सड़कें, हर घर नल का जल सहित कई जनकल्याणकारी योजनाओं को मूर्तरूप दिया गया है।

 

नीतीश कुमार ने पीएम मोदी की तारीफ की
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने पांच वर्षों में जनहित के अनेक काम किए हैं। पूरे बिहार में सड़कों का जल बिछ गया है। इसके निर्माण में केंद्र ने 50 हजार करोड़ की सहायता दी है। हमलोगों का लक्ष्य ही न्याय के साथ काम करना है।  सड़क शिक्षा, उच्च शिक्षा, बिजली, पानी समेत तमाम उपलब्धियों को गिनाते हुए उन्होंने कहा कि हमलोगों ने आपकी खिदमत की है और उसके लिए उस आधार पर हम आपका सहयोग चाहते हैं।

 

60 साल के अधिक के सभी वृद्धों को अगस्त से पेंशन
बरबीघा के एसकेआर कॉलेज के मैदान में मुख्यमंत्री ने विपक्ष की भाषाशैली पर निशाना साधते हुए कहा कि जब उनके पास काम का जवाब नहीं है, तो गलत भाषा का उपयोग कर रहे हैं। हमारी सरकार सबके लिए काम कर रही है। पहले लोग शिकायत करते थे कि दूसरे को वृद्धा पेंशन मिल रहा है और हमें नहीं। तब हमने यह फैसला लिया कि 60 साल से अधिक उम्र वाले सभी वृद्धजनों को वृद्धा पेंशन का लाभ मिलेगा। सबका नाम भी दर्ज हो रहा है। वेरिफिकेशन के बाद सभी लोगों का खाता खुलेगा एवं उनके खाते में पैसा जाएगा। अगस्त माह से पैसे का भुगतान शुरू हो जाएगा। सभी को अप्रैल माह से जोड़कर पैसा दिया जाएगा। नीतीश ने कहा कि जनता ने 15 साल राजद को मौका दिया। परंतु इस दौरान पति-पत्नी की सरकार ने केवल बिहार में राज किया और बिहार के विकास के लिए कोई ठोस कदम उठाना मुनासिब नहीं समझा।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना