अपराध रोकने में साथ दे मुखिया संघ

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मुखिया संघ के साथ बैठक करते थानाध्यक्ष।

सिटी रिपोर्टर| महाराजगंज

थानाध्यक्ष निरंजन कुमार चौरसिया ने शनिवार को थाना परिसर में मुखिया संघ के साथ हुए बैठक में प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न पंचायतों में बढ़ते अपराध को ध्यान में रखते हुए अपराधी किस्म के लोग और शराब माफियाओं की सूची उपलब्ध कराने की बात कही। उन्होंने कहा कि पंचायत क्षेत्र में किसी भी प्रकार की शराब बिक्री या क्राइम संबंधी सूचना मिलती है तो उसकी सूचना पंचायत के मुखिया तुरंत थाने को दें ताकि समाज में बढ़ते अपराध पर लगाम लगाई जा सके। समाज में बढ़ रहीं आपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि नशे के व्यापारियों पर सरकार के द्वारा इतनी बड़ी अंकुश के बावजूद भी शराब के धंधेबाज बाज नहीं आ रहे हैं। जो कि समाज के लिए खतरनाक है। इसको रोकना जहां पुलिस प्रशासन का दायित्व है, वहीं नेताओं को भी अपनी भूमिका निभानी चाहिए। उन्होंने कहा कि नशे का सेवन अगर बंद हो जाए तो लूटमार जैसी वारदातें समाप्त हो सकती हैं। क्योंकि नौजवान नशे के दलदल में फंसकर ऐसी वारदातें करते हैं। बिहार में पूर्ण रूप से शराबबंदी के बावजूद भी शराब के धंधेबाज धंधा कर रहे हैं और प्रत्येक दिन पकड़े जा रहे हैं। इस मसले पर महाराजगंज प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न पंचायत के मुखिया को खुलकर सामने आना होगा। पंचायत में निवास कर रहे अपराध और अपराधी शराब धंधेबाज किस्म के लोगों को चिन्हित कर सजा दिलाने की जरूरत हैं ताकि समाज में बढ़ते हुए अपराध पर लगाम लगाया जा सके। इस दौरान देवरिया मुखिया अजीत प्रसाद, आजादी बाबू, बलऊ मुखिया सुनील कुमार सिंह, टेघड़ा मुखिया राजाराम राय, पोखरा मुखिया रमेश यादव, सांरगपुर मुखिया इम्तियाज अहमद, सिकटिया मुखिया प्रभाकर उपाध्याय, पटेढ़ी मुखिया उमेश शाही, एएसआई प्रमोद कुमार पटेल, संजय कुमार सिंह, जितेन्द्र राय, विनोद कुमार राय, अरुण कुमार सिंह समेत अन्य लोग मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...