--Advertisement--

प्रदर्शन / महिला पुलिसकर्मियों की बर्खास्तगी के खिलाफ भाकपा माले का प्रतिवाद मार्च



महिला पुलिसकर्मियों की बर्खास्तगी के विरोध में भाकपा माले का प्रतिवाद मार्च महिला पुलिसकर्मियों की बर्खास्तगी के विरोध में भाकपा माले का प्रतिवाद मार्च
X
महिला पुलिसकर्मियों की बर्खास्तगी के विरोध में भाकपा माले का प्रतिवाद मार्चमहिला पुलिसकर्मियों की बर्खास्तगी के विरोध में भाकपा माले का प्रतिवाद मार्च
  • महिला पुलिसकर्मियों के यौन उत्पीड़न के खिलाफ 10 नवंबर को भाकपा का कैंडल मार्च

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2018, 07:17 PM IST

पटना. महिला पुलिस सविता पाठक की डेंगू से मौत के बाद पुलिसकर्मियों के आक्रोश पर 77 महिला सहित 175 पुलिसकर्मियों की बर्खास्तगी के खिलाफ भाकपा माले ने शुक्रवार को राजधानी सहित सभी जिला मुख्यालयों पर प्रतिवाद मार्च किया। भाकपा की मांग है कि महिला सहित सभी पुलिसकर्मियों की बर्खास्तगी सरकार तुरंत रद्द करे। 

 

दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग
पार्टी ने महिला पुलिसकर्मियों के यौन शोषण के दोषी अधिकारियों को चिह्नित कर कार्रवाई करने की मांग की। पटना में कारगिल चौक पर प्रतिवाद सभा को विधायक दल नेता महबूब आलम, शशि यादव समेत कई नेताओं ने संबोधित किया।

 

भाकपा का आरोप-बिहार में महिलाएं कहीं सुरक्षित नहीं
महबूब आलम ने कहा कि वर्तमान राज्य शासन में महिलाएं कहीं भी सुरक्षित नहीं हैं। कस्तूरबा विद्यायल हो या बालिका शेल्टर होम लड़कियों का यौन उत्पीड़न हो रहा है। पुलिस लाइन की घटना ने तो साबित कर दिया कि पुलिस विभाग में भी महिलाएं सुरक्षित नहीं है। शशि यादव ने कहा कि महिला पुलिसकर्मियों के यौन उत्पीड़न के खिलाफ 10 नवंबर को कैंडल मार्च होगा।

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..