पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

मैनेजर को बंधक बना 18.41 लाख के सिक्के लूटे

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • कैश मैनेजमेंट कंपनी की पिकअप वैन पर लदे थे सिक्के, नौबतपुर में घटना 
  • वैन के दोनों चालकों और कंपनी के मैनेजर को बांध कर मसौढ़ी में कार से फेंका
Advertisement
Advertisement

पटना/नौबतपुर. दो कार में सवार अपराधियों ने सोमवार रात करीब 11:30 बजे नौबतपुर के गोआए गांव के पास कैश मैनेजमेंट कंपनी की पिकअप वैन पर लदे 18.41 लाख के सिक्के लूट लिए। अपराधियों ने पिकअप वैन चालक सुधीर कुमार और दूसरे चालक राजू के साथ ही उसमें सवार कंपनी के रिस्क मैनेजर महेश प्रसाद को उतारा।

 

मारपीट कर तीनों को बांध कर मसौढ़ी थाने के नूरा गांव के पास कार से नीचे खेत में फेंक दिया। किसी तरह सुधीर ने पहले हाथ को खोला, फिर दोनों चालकों का। इसके बाद गांव वालों को जगाकर आपबीती सुनाई। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची मसौढ़ी पुलिस ने उन्हें नौबतपुर भेज दिया। नौबतपुर थाने में अज्ञात लुटेरों के खिलाफ केस दर्ज किया गया।


ऐसे हुई लूट

सोमवार रात पिपलावां गांव से आगे बढ़ने के बाद गोआए के समीप जब पहुंचे तो वहां पहले से लाल रंग की एक कार खड़ी थी। पीछे से ओवरटेक कर एक और उजली रंग की कार पहुंची।


कंपनी के रांची क्षेत्रीय कार्यालय में भेजा जा रहा था सिक्का 
एक, दो, पांच और 10 के सिक्कों से लदी पिकअप वैन सगुना मोड़ से रांची जा रही थी। ये सिक्के रेडियंट कैश मैनेजमेंट सर्विस प्राइवेट लिमिटेड के हैं। सगुना मोड़ निवासी रिस्क मैनेजर महेश प्रसाद 11 साल से इस कंपनी में हैं। यह कंपनी मॉल व बड़ी दुकानों से कमीशन में सिक्का लेने के एवज में उन्हें नोट देती है। रांची में इस कंपनी का क्षेत्रीय कार्यालय है। सिक्का वहीं जा रहा था।


ड्राइवर से कहा था बिहारशरीफ रूट से जाने को, नहीं माना 
महेश ने बताया कि पिकअप बीआर 01 पीएम- 8578 को किराए पर लेकर जा रहे थे। गाड़ी पर चालक सुधीर कुमार के अलावा उसी का एक अन्य उसका परिचित चालक राजू था। चालक को रांची के कई रूट बताए। बिहारशरीफ से जाने को कहा पर उसने कहा कि शॉर्टकट से मसौढ़ी, जहानाबाद होते गया निकल जाएंगे। चालक सुधीर नौबतपुर के चिरौरा गांव का है और राजू उसका ही परिचित है।


इतने सिक्के को लेकर अपराधी कहां भागेंगे? 
बैंक शाखाओं में सिक्का एक्सचेंज करने की कोई सीमा नहीं है। हजार, दो हजार, पांच हजार... अपनी जरूरत के हिसाब से कोई भी व्यक्ति किसी भी बैंक शाखा में सिक्का एक्सचेंज कर नोट ले सकता है। आरबीआई के अनुसार यह उसका अधिकार है। 18.41 लाख के सिक्कों को मार्केट में सामान्य तरीके से खपाने में वर्षों लग जाएंगे। ऐसे में अपराधियों के सामने सिक्के खपाने के विकल्पों पर पुलिस आगे की जांच करेगी।


सात दिन पहले पिकअप वैन को बुक क्यों कराया?

बड़ा सवाल है कि सिक्का को सोमवार की रात रांची ले जाना था तो पटना में इस पिकअप वैन को सात दिन पहले क्यों बुक कराया गया था?

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज का दिन पारिवारिक और आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदायी है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति का अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ निश्चय से पूरा करने की क्षमत...

और पढ़ें

Advertisement