बिहार / रात में पकड़े गए संदिग्ध को ग्रामीणों ने बिना पीटे पुलिस को सौंपा



Dainik Bhaskar awareness campaign against Mob Linching
X
Dainik Bhaskar awareness campaign against Mob Linching

  • दैनिक भास्कर के भीड़ की हिंसा के खिलाफ जागरुकता अभियान का दिखा असर
  • पकड़ा गया युवक मानसिक रूप से कमजोर है 
  • उसकी जेब में गोरखपुर से नरकटियागंज का टिकट मिला

Dainik Bhaskar

Oct 10, 2019, 08:38 AM IST

रामनगर (बेतिया) (अनिरुद्ध कुमार). बेतिया जिले में दैनिक भास्कर के भीड़ हिंसा के खिलाफ जागरूकता अभियान का असर दिखने लगा है। रामनगर प्रखंड की भावल पंचायत के फुलवरिया गांव में एक संदिग्ध को मंगलवार की रात करीब एक बजे ग्रामीणों ने पकड़कर बिना मारपीट किए जनप्रतिनिधियों के माध्यम से पुलिस को सौंपा। संदिग्ध की पहचान नरकटियागंज हाईस्कूल के समीप के 35 वर्षीय अखिलेश के रूप में की गई है। 

 

 

गोरखपुर से लौट रहा था

बताया जाता है कि ग्रामीणों द्वारा पकड़े गए संदिग्ध की जेब से गोरखपुर से नरकटियागंज की टिकट मिली है। वह गोरखपुर से इलाज कराकर लौटने के दौरान भैरोगंज स्टेशन पर ही उतर गया। वहां से भटकते-भटकते रामनगर की भवाल पंचायत के फुलवारिया गांव पहुंच गया और ग्रामीणों के हत्थे चढ़ गया। लेकिन ग्रामीणों ने जागरूकता दिखाते हुए उसे पकड़कर स्थानीय जनप्रतिनिधियों को सूचित किया। और पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने बताया कि पकड़े गए युवक के भाई से बातचीत हुई है। परिजन आ रहे हैं, जिन्हें उसे सौंप दिया जाएगा। थानाध्यक्ष ने स्वीकार किया कि बातचीत में वह मानसिक रूप से कमजोर व रुग्ण प्रतीत हो रहा है। उसकी जेब में गोरखपुर से नरकटियागंज का टिकट मिला।  

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना