--Advertisement--

सीधे प्रखंड जाएगा आपदा प्रबंधन का पैसा, निगम क्षेत्र में होगी नाला उड़ाही

यह आदेश डीएम मो. साेहैल ने सोमवार को विभागीय कार्यों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को दिए।

Danik Bhaskar | Jul 03, 2018, 03:07 PM IST

मुजफ्फरपुर. बाढ़ समेत विभिन्न प्रकार की आपदा से बचाव के लिए सरकार व विभाग से उपलब्ध कराई जाने वाली राशि को सीधे प्रखंडों को दी जाए, ताकि अंचलों से जल्द से जल्द बचाव कार्य शुरू हो। दूसरी ओर शहर से जल निकासी के लिए शहरी क्षेत्र के नालों की सफाई करने के बदले ग्रामीण क्षेत्र तक के नालों की नगर निगम सफाई कराए, ताकि शहरी क्षेत्र से जल्द से जल्द पानी निकालने में अवरोध नहीं हो।

यह आदेश डीएम मो. साेहैल ने सोमवार को विभागीय कार्यों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को दिए। उन्होंने ने आगामी बाढ़ को देखते हुए अधिकारियों को हर प्रकार की आपदाओं से त्वरित गति से निपटने को कहा और बाढ़ से होने वाली बर्बादी व मौत से बचाव के लिए पहले से सतर्क रहने को कहा। अपर समाहर्ता आपदा प्रबंधन बचाव समेत सभी प्रकार के आवंटन को सीधे अंचलों तक पहुंचाने की व्यवस्था करें, जिससे राशि के अभाव में कोई कठिनाई नहीं हो।

नगर निगम बरसात के समय जल्द व शहर के बाहर तक जल निकासी की व्यवस्था करे। डीएम ने आरडब्ल्यूडी, आरसीडी के कार्यपालक अभियंताओं से सभी मेंटेनेंस वाली सड़कों की सूची देने को कहा, ताकि सभी सड़कों की जांच कराई जा सके। मोतीपुर निबंधन कार्यालय में बिचौलियों के हावी होने की जानकारी मिलने पर डीएम ने दोनों एसडीओ को सभी निबंधन कार्यालयों की जांच के आदेश दिए। साथ ही किसी भी निबंधन कार्यालय में बिचौलियों के मिलने पर तत्काल प्राथमिकी दर्ज करते हुए कठोर कार्रवाई के आदेश दिए।

आरडब्ल्यूडी, आरसीडी व एएचएआई को अपनी सड़कों के जमीन के खाता की पूरी सूची निबंधन कार्यालय को तीन दिनों में उपलब्ध कराने के आदेश दिए, ताकि इन सरकारी जमीनों काे रोक सूची में डाली जा सके। साथ ही इसके निबंधन पर रोक लगाने का आदेश दिया।