राजनीति / बिहार में शिक्षा व रोजगार बदहाल, 24 को लगाएंगे मानव कतार: उपेंद्र

प्रेस कॉन्फ्रेंस करते उपेंद्र कुशवाहा। प्रेस कॉन्फ्रेंस करते उपेंद्र कुशवाहा।
X
प्रेस कॉन्फ्रेंस करते उपेंद्र कुशवाहा।प्रेस कॉन्फ्रेंस करते उपेंद्र कुशवाहा।

  • शिक्षा व रोजगार मामले पर रालोसपा का मानव कतार 24 को
  • 19 को सभी कार्यालय खोलकर धन व श्रम का दुरुपयोग कर रही नीतीश सरकार

Dainik Bhaskar

Jan 16, 2020, 07:09 PM IST

पटना. रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि बिहार में शिक्षा और रोजगार बदहाल है। पिछले 14 वर्षों में लगातार बेजोरगारी बढ़ी है। जो जितने पढ़े लिखे हैं, उनकी बेरोजगारी की स्थिति उतनी खराब है। प्राथमिक कक्षा उत्तीर्ण की बेरोजगारी की स्थिति 2.5, मैट्रिक स्तर के 8.4, डिप्लोमा स्तर के 9.1 और स्नातक स्तर के 25.7 प्रतिशत बेरोजगारी दर है। महंगाई बढ़ रही है। 

शिक्षा और रोजगार के मुद्दे पर रालोसपा कर्पूरी ठाकुर की जयंती पर 24 जनवरी को राज्य भर में मानव कतार लगाएगी। जल जीवन हरियाली के मामले पर मानव शृंखला के लिए रविवार को कार्यालय खोलना धन और श्रम का दुरुपयोग है। कर्मियों को दूसरे रविवार के बदले दूसरे दिन अवकाश देना स्कूलों में पढ़ाई बाधित करना होगा। 19 की मानव शृंखला का रालोसपा समर्थन नहीं करेगी।

राजद ने फिर एक बार दोहराया है कि तेजस्वी ही सीएम उम्मीदवार मामले पर सहयोगी दलों से पूछे जा रहे सवाल को वे टाल गए। कुशवाहा ने नीतीश सरकार पर आरोप लगाया कि पिछले 14 वर्षों में राज्य में पर्यावरण सुधारने के लिए कोई कारगर कदम नहीं उठाये गए। चुनाव में बेरोजगारी दूर करने और बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने का वादा कर सत्ता में आये नीतीश सरकार को बताना चाहिए कि बिहार को विशेष राज्य का दर्जा का मुद्दा अब क्यों भुला दिया गया। युवाओं को क्यों नहीं मिल रहा? 20 जनवरी को पुलिस भर्ती परीक्षा रद्द करना गलत है।

24 की मानव कतार के लिए रालोसपा ने पटना में दो सहित अन्य सभी जिलों के लिए एक-एक नेता को प्रभारी बनाया है। मौके पर राजेश यादव, जितेंद्र नाथ, अभिषेक झा, अनिल यादव व भोला शर्मा मौजूद थे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना